गोपेश्वर।… पंचकेदार श्रृंखला के मध्यमहेश्वर मन्दिर के कपाट रविवार को श्रद्घालुओं के दर्शनों के लिए खुल गए, जबकि इस श्रृखला के श्री रूद्रनाथ मन्दिर के कपाट 19 मई को खुलेंगे।

मध्यमहेश्वर एवं रूद्रनाथ मन्दिर पंचकेदार श्रृंखला के सबसे कठिन यात्रा वाले तीर्थ माने जाते हैं। मध्यमहेश्वर जाने के लिए लगभग 30 किलोमीटर की पैदल यात्रा करनी पड़ती है, जबकि रूद्रनाथ मन्दिर पहुंचने के लिए 21 किलोमीटर की पैदल यात्रा करनी पड़ती है।

श्री रूद्रनाथ मन्दिर लगभग दस हजार फुट की उंचाई पर सुन्दर बुग्याली क्षेत्र में है जहां गुफा के अन्दर भगवान शिव की मूर्ति रूप में पूजा होती है।

Madhyamaheswar

मध्यमहेश्वर मन्दिर भी उच्च हिमालय क्षेत्र में हैं, यहां केदारनाथ की तरह ही भगवान शिव का विशाल मन्दिर बना है। रूद्रनाथ के पुजारी पंडित महेन्द्र प्रसाद तिवारी ने बताया कि 19 मई को सुबह श्री रूद्रनाथ के कपाट खुलेंगे।

केदारनाथ, मध्यमहेश्वर और रूद्रनाथ के अलावा पंचकेदार श्रृंखला के दो अन्य मंदिर तुंगनाथ और कल्पेश्वर हैं।