दर्जाप्राप्त मंत्री और कांग्रेस नेता भूपेश उपाध्याय ने थामा बीजेपा का दामन

उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस के सचिव और जलागम प्रबंधन बोर्ड के उपाध्यक्ष भूपेश उपाध्याय ने राज्य सरकार पर जनविरोधी होने का आरोप लगाते हुए शुक्रवार को दिल्ली जाकर बीजेपी का दामन थाम लिया।

बीजेपी के प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू व राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल बलूनी की मौजूदगी में भूपेश ने बीजेपी की सदस्यता ली। उन्होंने जलागम प्रबंधन बोर्ड के उपाध्यक्ष पद से भी इस्तीफा दे दिया है।

एक समय भूपेश उपाध्याय की गिनती बहुगुणा कैंप में असरदार नेताओं में होती थी। खासतौर पर साकेत बहुगुणा से उनकी काफी नजदीकी थी। वे कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य के भी खास लोगों में शुमार रह चुके हैं। उपाध्याय ने कहा, उन्हें इस समय राज्य सरकार ने राज्यमंत्री का दर्जा दिया हुआ है और कांग्रेस संगठन में वह प्रदेश सचिव हैं।

बताया जा रहा है कि उन्हें बीजेपी में लाने की पूरी पटकथा राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल बलूनी ने लिखी। किसी को भनक तक नहीं लगी और भूपेश गुरुवार रात बलूनी के साथ दिल्ली पहुंचे। वहां उनकी मुलाकात प्रदेश बीजेपी प्रभारी श्याम जाजू से करवाई गई।

Bhupesh_upadhyay1

भूपेश की बागेश्वर से हैं जो भाजपाई दिग्गज व पूर्व मुख्यमंत्री भगत सिंह कोश्यारी का भी गृह क्षेत्र है। उधर, दिल्ली से फोन पर प्रदेश प्रभारी श्याम जाजू ने प्रदेश अध्यक्ष तीरथ सिंह रावत को एक दिन पहले ही यह जानकारी दे दी थी।

हालांकि तीरथ इस समय गढ़वाल भ्रमण पर हैं, लेकिन उन्होंने कहा कि वह प्रदेश प्रभारी के लगातार संपर्क में हैं। लेकिन इस समय तीरथ के दिल्ली में न होने से यह संकेत भी मिल रहे हैं कि प्रदेश बीजेपी का दूसरा ग्रुप बढ़त ले रहा है।