नाबालिग से रेप के आरोपी को 10 साल की जेल, मौसी बरी

पौड़ी जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने नाबालिग के साथ दुराचार के आरोपी को दस साल कैद की सजा सुनाई है। मामले में पीड़िता की मौसी को साजिश रचने के आरोप से बरी कर दिया गया है।

सहायक जिला शासकीय वकील प्रेम बल्लभ पंत ने बताया कि 7 जून 2014 को कोटद्वार तहसील क्षेत्र की नाबालिग बालिका के साथ रेप का मामला सामने आया था। मामले में उत्तर प्रदेश के शामली जिले के निवासी सुरेंद्र सिंह के खिलाफ केस दर्ज किया गया था।

पीड़िता के माता-पिता की मौत हो चुकी थी और वह अपने रिश्ते की मौसी के घर में रह रही थी। जहां सुरेंद्र का आना जाना था। 7 जून 2014 को नाबालिग को अकेला देख सुरेंद्र ने उसके साथ रेप किया। इसके बाद आरोपी पीड़िता और उसकी रिश्ते की मौसी को शामली ले गया। आरोप था कि उसने वहां भी पीड़िता के साथ रेप किया।

जांच के दौरान पुलिस ने पीड़िता के रिश्ते की मौसी के खिलाफ भी षड्यंत्र रचने के मामले में केस दर्ज किया था। कोर्ट ने मौसी को निर्दोष पाते हुए उसे साजिश रचने के आरोपों से बरी कर दिया।