जल्द ही हवा में अपने आप चार्ज होने लगेगा आपका स्मार्टफोन

जब से स्मार्टफोन आए हैं तब से बार-बार मोबाइल चार्ज करने का झंझट भी बढ़ गया है। स्मार्टफोन के बेतहाशा बैटरी पीने के कारण ही पोर्टेबल बैटरी चार्जर का बिजनेस भी चल निकला है। लेकिन अब वैज्ञानिकों ने इसके हल के लिए एक उम्मीद जगाई है। अब बिना पावर प्लग और पोर्टेबल चार्जर के भी फोन चार्ज हो सकता है।

वैज्ञानिकों का दावा है कि उन्होंने फोन चार्जिंग की नई तकनीक विकसित की है, जो रेडियो फ्रीक्वेंसियों को पावर में बदल देगा, जिससे मोबाइल आदि चार्ज की जा सकेंगी। टेक क्रंच की एक रिपोर्ट के मुताबिक, इस तकनीक में एक केस का इस्तेमाल किया गया है जो फोन सिग्नल ढूंढने में खर्च हुई फोन की 90 फीसदी बैटरी को वापस फोन में डाल देता है, जिससे वह 30 फीसदी ज्यादा चलता है।

अमेरिका आधारित निकोला लैब्स ओहायो स्टेट यूनिवर्सिटी के साथ मिलकर इस डिवाइस को सालभर के अंदर बाजार में उतारने वाली है। ओहायो स्टेट यूनिवर्सिटी में इस तकनीक को विकसित किया गया है। इस तकनीक का इस्तेमाल वियरेबल गैजेट्स, एम्बेडेड सेंसर्स और मेडिकल डिवाइसेज जैसे कई अलग-अलग डिवाइसेज में किया जा सकता है जहां ज्यादा मात्रा में बिजली की जरूरत नहीं पड़ती।