पांचवे धाम हेमकुंड साहिब यात्रा की तैयारियां जोरों पर

उत्तराखंड के पांचवा धाम कहे जाने वाले हेमकुंड साहिब यात्रा की तैयारियां जोरों पर चल रही हैं। सेना के 25 जवान और 20 सेवादार यात्रा के मुख्य पड़ाव घांघरिया से अटलाकोटी तक पैदल मार्ग से बर्फ हटाकर आगे बढ़ गए हैं।

अब हेमकुंड साहिब के मात्र दो किमी पैदल रास्ते से बर्फ हटाना रह गया है। जहां-जहां रास्ते से बर्फ हटा ली गई है वहां जवानों की ओर से सीढ़ीनुमा रास्ता बनाया जा रहा है।

लोनिवि गोविंदघाट से घांघरिया के बीच स्थित रामढुंगी स्थान पर एक किमी पैदल मार्ग पर सुधारीकरण कार्य कर रहा है। गोविंदघाट से घांघरिया तक घोडे-खच्चरों की आवाजाही भी शुरू हो चुकी है।

गोविंदघाट गुरुद्वारे के प्रबंधक सरदार सेवा सिंह का कहना है कि अब भी हेमकुंड साहिब में दस और घांघरिया से हेमकुंड साहिब के पैदल रास्ते पर करीब आठ फीट बर्फ जमी है। हेमकुंड सरोवर पूरी तरह बर्फ से ढका हुआ है।

उन्होंने कहा कि हेमकुंड साहिब यात्रा एक जून से शुरू होगी। 25 मई तक घांघरिया और हेमकुंड साहिब में सभी सुविधाएं पूरी कर ली जाएंगी। गोविंदघाट में 15 मई से बिजली, पानी और संचार सुविधा मुहैया हो जाएगी।

जोशीमठ के एसडीएम अनूप कुमार नौटियाल का कहना है कि हेमकुंड साहिब यात्रा के प्रमुख पड़ाव गोविंदघाट और घांघरिया में यात्रा से पहले सभी सुविधाएं जुटा ली जाएंगी। शीघ्र संबंधित अधिकारियों के संग यात्रा तैयारियों को लेकर बैठक भी की जाएगी।