स्कूलों में रखे जाएंगे 293 अतिथि सहायक अध्यापक और प्रवक्ता

हरिद्वार जिले की माध्यमिक शिक्षा में जल्द सुधार होने जा रहा है। उच्चतर माध्यमिक और माध्यमिक स्कूलों में 293 अतिथि सहायक अध्यापक और प्रवक्ता रखे जा रहे हैं।

जिले के सरकारी स्कूलों में लंबे समय से टीचरों का टोटा बना हुआ है। विषय अध्यापक नहीं होने से बच्चों का शैक्षिक स्तर भी गिरता जा रहा है। जिले में संचालित 72 राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापकों के 493 पद स्वीकृत हैं। जिनमें से 338 कार्यरत हैं और 155 पद अब तक खाली हैं।

19 राजकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक और इंटर कॉलेजों में सहायक अध्यापक महिला शाखा के 117 पद स्वीकृत हैं। 79 कार्यरत हैं और 39 की जरूरत है। 16 इंटर कॉलेजों में प्रवक्ता सवंर्ग सामान्य शाखा के 138 पद स्वीकृत हैं। जिनमें से 75 कार्यरत हैं और 63 पद अब तक खाली हैं। 11 राजकीय कन्या इंटर कॉलेजों में महिला प्रवक्ताओं के 106 पर स्वीकृत हैं लेकिन कुल 70 कार्यरत हैं और 36 की और जरूरत है।

राज्य सरकार ने पिछले ही दिनों खाली पदों पर अतिथि सहायक अध्यापक और प्रवक्ता रखने का निर्णय लिया था। अतिथि अध्यापकों को प्रतिवादन के हिसाब से पैसा दिए जाने या 15 हजार मासिक मानदेय दिए जाने का प्रस्ताव है।