नेपाल में एवरेस्ट के पास आया 7.3 तीव्रता का भूकंप, समूचा उत्तर भारत भी कांपा

मंगलवार दोपहर को दिल्ली-एनसीआर सहित समूचे उत्तर भारत में भूकंप के झटके महसूस किए गए। भूकंप दोपहर 12:38 बजे आया। भूकंप का प्रभाव दिल्ली के अलावा उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पंजाब में भी महसूस किया गया। भूकंप का केंद्र नेपाल-चीन की सीमा को बताया जा रहा है। रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 7.3 बताई गई है।

गौरतलब है कि 25 अप्रैल को नेपाल में 7.9 तीव्रता वाला विनाशकारी भूकंप आया था, जिसके बाद वहां भारी तबाही मची थी। मंगलवार को आए भूकंप के झटके पाकिस्तान और बांग्लादेश में भी महसूस किए गए हैं।

दिल्ली-एनसीआर में भूकंप के कारण दिल्ली मेट्रो का संचालन कुछ देर के लिए रोक दिया गया। कोलकाता में भी मेट्रो ट्रेन के संचालन को रोका गया। भूकंप के कारण दिल्ली में सुप्रीम कोर्ट का भी कामकाज ठप हो गया।

खबरों के मताबिक पड़ोसी देश नेपाल के काठमांडू से 82 किमी दूर भूकंप का केंद्र था। नेपाल में आए भूकंप के कारण दिल्ली सहित पूरे उत्तर भारत में झटके महसूस किए गए। नेपाल के दक्षिण-पूर्व कोडारी से 23 किमी दूर इसका केंद्र है। जमीन के नीचे 19 किमी अंदर इसका केंद्र था।

नेपाल में आए भूकंप के बाद विशेषज्ञों ने चेतावनी दी थी कि इसके कम से कम 10 आफ्टर शॉक्स आ सकते हैं और इसका प्रभाव भारत और खासकर उत्तर भारत पर हो सकता है। विशेषज्ञों के अनुसार इसे आफ्टर शॉक नहीं माना जा सकता, क्योंकि आफ्टर शॉक की तीव्रता इतनी नहीं होती। अगर यह आफ्टर शॉक होता तो इसकी तीव्रता 6.3 से ज्यादा नहीं होनी चाहिए थी। लेकिन यह 7.3 तीव्रता का झटका था इसलिए ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है।