ड्राइवर के प्यार में फंसी कारोबारी की पत्नी फरार, हरिद्वार में मिले दोनों

कारोबारी पति ने ड्राइवर रखा तो इसलिए था कि वह उनकी पत्नी को बाहर ले जाए और घर पहुंचा दे। लेकिन एक बार जब वो मालकिन को बाहर ले गया तो वापस ही नहीं आया। मालकिन भी अपने ड्राइवर के प्रेम जाल में ऐसी फंसी की घर से नकदी और गहने लेकर उसके साथ फरार हो गई।
[manual_related_posts]

यही नहीं, मालकिन को भागकर ड्राइवर हरिद्वार पहुंचा तो यहां के एक होटल में चोर समझकर उसकी पिटाई कर दी गई। महिला के पास से आठ लाख रुपये नकद और करीब चार लाख के जेवहरात मिले हैं। देर रात ही पहुंची दिल्ली पुलिस नौकर और मालकिन को लेकर वापस लौट गई।

हरिद्वार में श्रवणनाथ नगर के एक होटल में दो दिन पहले एक युगल ठहरा था। दिल्ली का निवासी बताते हुए युगल ने खुद को दंपति बताया था। युगल की गतिविधियां संदिग्ध दिखाई देने पर मंगलवार देर रात होटल मैनेजर ने युवक से पूछताछ की जिस पर वो उलझ गया। होटल कर्मियों ने उसकी पिटाई कर दी और पुलिस को सूचना दे दी। पुलिस दोनों को कोतवाली ले आई और पूछताछ की।

कोतवाली प्रभारी महेंद्र सिंह नेगी के अनुसार युगल ने अपना नाम रुद्रप्रयाग जिले में अगस्त्यमुनि के डुगरा पट्टी निवासी दयाल सिंह बताया। बताया कि वो दिलशाद कॉलोनी, सीमापुरी, नई दिल्ली के रहने वाले कारोबारी का ड्राइवर था। उसका मालिक की पत्नी से प्रेम प्रसंग हो गया और करीब एक महीने पहले उसे लेकर यहां चला आया था।

कोतवाल के अनुसार महिला के पास आठ लाख रुपये और चार लाख के जेवहरात भी मिले। पूछताछ के बाद पुलिस ने दिल्ली पुलिस को महिला और जेवहरात के मिलने की सूचना दी। खबर मिलने पर देर रात पहुंची सीमापुरी थाना पुलिस को महिला और ड्राइवर को सौंप दिया गया। पुलिस ने बताया क‌ि महिला का चार साल का एक बेटा भी है।