भगवानपुर उपचुनाव : कांग्रेस ने ममता राकेश को थमाया टिकट, पार्टी में बगावत

भगवानपुर विधानसभा उपचुनाव में कांग्रेस का टिकट दिवंगत मंत्री सुरेंद्र राकेश की पत्नी ममता राकेश को दिए जाने के साथ ही पार्टी में बगावत भी शुरू हो गई है। सोमवार को कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में नामांकन दाखिल करने वाले मास्टर सत्यपाल सिंह के साथ भगवानपुर के ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष राजकुमार कसाना और वरिष्ठ नेता मुनीर आलम समेत कई नेताओं ने पार्टी छोड़ दी है।
[manual_related_posts]

उन्होंने पार्टी हाईकमान पर जमीन से जुड़े कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ विश्वासघात करने का आरोप लगाया। मास्टर सत्यपाल सिंह ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ने की घोषणा की है। सोमवार को कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजेंद्र सिंह के साथ रोशनाबाद जाकर मास्टर सत्यपाल सिंह ने पर्चा भरा था। उन्हें सोमवार को ही समाज कल्याण विभाग में उपाध्यक्ष बनाकर लाल बत्ती की सौगात भी दी गई थी। सत्यपाल ने तभी बागी तेवर दिखाने शुरू कर दिए थे।

मंगलवार को पार्टी के कई नेताओं के साथ पत्रकारों से बातचीद करते हुए मास्टर सत्यपाल सिंह ने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने आरोप लगाया कि पार्टी ने उनके साथ धोखा किया है। मुख्यमंत्री के आश्वासन के बाद ही उन्होंने जिलाध्यक्ष के साथ जाकर पर्चा भरा था। बाद में उन्हें टिकट नहीं दिया गया।

उन्होंने कहा कि हम सभी ने कांग्रेस की सच्चे मन से सेवा की है, लेकिन पार्टी ने उन्हें इसके लिए मजबूर किया है। इस दौरान मौजूद सभी लोगों ने मजबूती से सत्यपाल को चुनाव लड़ाने की बात कही।