अवैध संबंध छिपाने के लिए हुई मासूम भगवती की हत्या, पत्‍थर से सिर कुचला

धन सिंह ने 16 मार्च को अपनी भतीजी मासूम भगवती का अपहरण तो रुपयों के लिए ही किया था, लेकिन अपना एक राज खुलने के डर से उसने मासूम को मौत के घाट उतार दिया। धन सिंह के अवैध संबंधों के बारे में भगवती सब जानती थी और उसने टॉफी न देने पर सबको यह बाद बताने की धमकी धन सिंह को दी थी। धन सिंह ने उसका मुंह हमेशा के लिए बंद कर दिया।
[manual_related_posts]

मूलरूप से आंवला सिरौली, बरेली निवासी अनोखे लाल करीब 12 साल पहले पत्नी और बच्चों के साथ देहरादून आए थे और यहां के मद्रासी कॉलोनी में रह रहे थे। 16 मार्च को उनके पांच बच्चों में सबसे छोटी भागवती (8) उर्फ भागो घर के बाहर खेलते हुए अचानक गायब हो गई थी। पुलिस की जांच में सामने आया कि घटना के दिन देर रात किसी ने उसके रिश्ते के मामा धन सिंह को खून से सने कपड़ों में देखा था।

पूछताछ में धन सिंह ने हत्या की पूरी कहानी बयां कर दी। धन सिंह ने बताया कि वह देहरादून के मोहब्बेवाला स्थित एक फैक्ट्री में काम करता है और उसकी माली हालत अच्छी नहीं थी। जुए की लत के चलते उस पर काफी उधार भी चढ़ गया था।

एक महिला से उसके अवैध संबंध थे, जिसके बारे में भगवती को भी पता चल गया था। वह टॉफी का लालच देकर भगवती को त्यागी रोड स्थित रेलवे पटरी के पास ले गया था। उसका इरादा अपने जीजा अनोखे लाल से 20 हजार रुपये वसूलने का था। टॉफी नहीं मिली तो भगवती ने उसका राज खोलने की धमकी दी थी। इसी बात पर 19 वर्षीय धन सिंह ने उसकी हत्या कर दी।

धन सिंह ने गला दबाकर भगवती की हत्या की थी, पहचान छिपाने के लिए उसने भगवती का सिर पत्थरों से कुचल दिया और शव को वहीं पटरी के पास दबा दिया था। हत्या के आरोपी धन सिंह की निशानदेही पर पुलिस ने त्यागी रोड स्थित रेलवे पटरी के पास शव की काफी तलाश की। लाश तो बरामद नहीं हुई, लेकिन जानवरों द्वारा खाया जा चुका सिर जरूर बरामद हुआ। पुलिस का मानना है कि शव को जानवर खा गए होंगे। मौके से मिली भागो की चप्पलों को परिजनों ने पहचान लिया है।