आज से चैत्र नवरात्र शुरू, सज कर तैयार हैं मं‌दिर

शनिवार से चैत्र नवरात्रों की शुरुआत हो गई। इसके लिए उत्तराखंड की अस्थायी राजधानी देहरादून, हरिद्वार, ऋषिकेश, बागेश्वर के मंदिर विशेष रूप से सजाए गए हैं।
पहले दिन सभी जगह देवी के शैलपुत्री स्वरूप का पूजन किया जा रहा है। इसके साथ ही नवरात्र के पहले दिन से हिंदुओं के नव वर्ष (नव संवत्सर 2072) की भी शुरुआत हो गई। संवत्सर की पूर्व संध्या से ही लोग एक-दूसरे को बधाई देने लगे थे।

नवरात्र के सभी दिन देवी का विशेष अभिषेक और श्रृंगार किया जाएगा। हर दिन देवी को अलग-अलग रूपों में सजाया जाएगा। पहले दिन सभी मंदिरों में देवी का श्रृंगार शैलपुत्री स्वरूप में किया गया है। सुबह और शाम देवी की विशेष पूजा के साथ ही भजन-कीर्तन किए जाएंगें। माता वैष्णों देवी गुफा मंदिर में दुर्गा शप्तशती का पाठ किया जाएगा।

देहरादून के पटेलनगर स्थित श्री श्याम सुंदर मंदिर में सुबह-शाम भजन-कीर्तन किए जाएंगें। कालिका माता मंदिर में दुर्गानुष्ठान आदि कार्यक्रम होंगे। इसके साथ ही राधा-कृष्ण मंदिर, पंचायती मंदिर सभी जगहों पर देवी का पूजन होगा।

[manual_related_posts]

दून श्री पृथ्वीनाथ मंदिर की ओर से पूरे नवरात्र बेटी बचाए जाने का संदेश दिया जाएगा। इस मौके पर मंदिर में ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के पोस्टर-बैनर लगाए जाएंगें। कन्या पूजन के साथ ही लोगों को यह संदेश भी दिया जाएगा। इसके साथ ही सुबह-शाम मंदिर में विशेष पूजा का आयोजन किया जाएगा।

नव संवत्सवर 2072 की पूर्व संध्या पर लोगों ने एक-दूसरे को बधाई दी। इस मौके पर माता वैष्णों देवी गुफा मंदिर की ओर से गांधी पार्क में सामूहिक दीपदान किया गया। इसके साथ ही मंदिरों में नव संवत्सर की पूर्व संध्या पर विशेष पूजन किया गया। इसके साथ ही शनिवार को भी नव संवत्सर की पूजा की जाएगी।