सातवें आसमान पर ‘अंडर द स्काई’, उत्तराखंड की फिल्म दुनिया में मचा रही तहलका

उत्तराखंड में बनी और यहीं के कलाकारों की फिल्म ‘अंडर द स्काई’ इस साल जून में रिलीज को तैयार है। इस फिल्म को अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी सहित कई देशों में दिखाया जा चुका है। अब फिल्म एक अंतरराष्ट्रीय फिल्म फेस्टिवल के लिए नॉमिनेट हुई है। इस बात से उत्तराखंड के लोगों और खासकर फिल्म से जुड़े लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई है।

यह उत्तराखंड की पहली ऐसी फिल्म है, जिसे दुनिया के मंच पर छाने का मौका मिला है। फिल्म की खास बात ये है कि इसमें मुख्य भूमिका निभाने वाले दो बच्चे हल्द्वानी के हैं। मूलरूप से पिथौरागढ़ के रहने वाले एहसान बख्श फिल्म के निर्देशक हैं। बुधवार को दून पहुंचे एहसान ने बताया कि वह अपने राज्य को देश ही नहीं विदेशों में भी पहचान दिलाना चाहते हैं।

एहसान ने न सिर्फ पिथौरागढ़ जिले में 90 मिनट की फिल्म की शूटिंग की, बल्कि इस फिल्म को अब तक अमेरिका, इटली, फ्रांस, जर्मनी सहित 15 देशों के फिल्म फेस्टिवल में दिखा चुके हैं। यह फिल्म अब प्राग (चेक रिपब्लिक) में 29 मई से 5 जून तक चलने वाले ‘जिलीन इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल’ के लिए नॉमिनेट हुई है। इसमें फिल्म भी प्रदर्शित की जाएगी।

एहसान ने बताया कि पहली बार उत्तराखंड की किसी फिल्म को इतना बड़ा मुकाम मिल रहा है। राज्य के स्कूलों से संपर्क किया जा रहा है, ताकि यहां के बच्चों को यह फिल्म दिखाई जा सके। फिल्म की शूटिंग हल्द्वानी, मसूरी और रामनगर में हुई है। निर्देशक एहसान बख्श कई सीरियलों के लिए स्क्रीन प्ले लिख चुके हैं।

फिल्म ‘अंडर द स्काई’ में हल्द्वानी के स्वप्निल विजय और प्रतिभा मुख्य भूमिका में हैं। स्वप्निल विजय ने गोपी और प्रतिभा पंत ने विमला का किरदार निभाया है। फिल्म में एक तरलाखेत गांव है। विमला अंध विश्वासी है, जबकि गोपी वैज्ञानिक विचारधारा का है। गांव में एक जल कुंड है, जिसका नाम खरगोश का जल कुंड है।

मान्यता है कि पुराने समय में खरगोश ने राक्षस से जल कुंड को बचाया था, तब राक्षस वहां महल बनाना चाहता था। इसलिए उसका नाम खरगोश जल कुंड पड़ गया। राक्षस के रूप में प्रधान उस जगह पर अब रिसोर्ट बनाना चाहता है। बच्चे खरगोश की तरह उस जमीन को बचाने के लिए संघर्ष करते हैं।

दून के कलाकार कैलाश कंडवाल का भी इस फिल्म में अहम किरदार है, वे प्रधान बने हैं। जो बच्चों के लिए राक्षस समान हैं। फिल्म में बॉलीवुड एक्टर हेमंत पांडे के भाई राजेश ने टीचर का किरदार निभाया है। इसके साथ ही केदार पलड़िया ने गांव के ठेकेदार और डीएन भट्ट ने चौकीदार की भूमिका निभाई है।