पंचायत सदस्य पर जानलेवा हमला, कांग्रेस नेता पर साजिश का आरोप

उत्तराखंड में अल्मोड़ा जिले के सल्ट विधानसभा क्षेत्र में पनुवाद्योखन के जिला पंचायत सदस्य हंसा नेगी ने कांग्रेस के एक बड़े क्षेत्रीय नेता पर सुपारी देकर उनकी हत्या करवाने की साजिश रचने का आरोप लगाया है.

शनिवार को हुए मजिस्ट्रेटी बयान में हंसा नेगी ने यह आरोप लगाया. इसके बाद इस घटना में नया मोड़ आ गया है. राजस्व पुलिस ने नेगी पर चाकू से हमला करने वाले गांव के ही आरोपी को मछोड़ से गिरफ्तार कर लिया है.
[manual_related_posts]
हंसा नेगी पर जानलेवा हमला होने के बाद अल्मोड़ा से लेकर देहरादून तक सियासी हलचल तेज हो गई है. हंसा नेगी हल्द्वानी सेंट्रल अस्पताल में भर्ती हैं, जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है. उन पर शुक्रवार को भतरौंजखान के जाख गांव में चाकू से जानलेवा हमला हुआ था.
हंसा नेगी की पत्नी रेखा नेगी ने हमले के पीछे कांग्रेस के एक बड़े क्षेत्रीय नेता का हाथ होने का आरोप लगाते हुए अस्पताल में भर्ती उनके पति का नैनीताल के डीएम से मजिस्ट्रेटी बयान लेने मांग की. डीएम के आदेश पर तहसीलदार मोहन सिंह बिष्ट ने शनिवार को अस्पताल में हंसा नेगी के बयान लिए.
इस दौरान किसी को भी कमरे में नहीं आने दिया गया. हंसा नेगी की पत्नी रेखा ने बताया कि मजिस्ट्रेटी बयान में उनके पति ने कांग्रेस के एक क्षेत्रीय नेता पर सुपारी देकर उनकी हत्या कराने की साजिश रचने का आरोप लगाया है. इधर, सेंट्रल अस्पताल के डॉ. अमित जैन ने कहा कि हंसा की छोटी और बड़ी आंतें कट गई थीं, जिनका आपरेशन किया गया है.
पनुवाद्योखन क्षेत्र के जिला पंचायत सदस्य हंसा सिंह नेगी शुक्रवार शाम जाख गांव में अपने घर आ रहे थे. इस बीच जाख गांव के ही कृपाल सिंह ने उन्हें रोककर उन पर चाकू से कई वार किए. हंसा नेगी को गंभीर हालत में पहले रामनगर अस्पताल ले जाया गया, जहां से डॉक्टरों ने उन्हें हल्द्वानी रेफर कर दिया. शनिवार को हंसा नेगी की पत्नी रेखा नेगी ने आरोपी कृपाल सिंह के खिलाफ जाख क्षेत्र के पटवारी के पास धारा 307 के तहत मुकदमा दर्ज कराया.
मामला दर्ज होने के बाद सल्ट के नायब तहसीलदार दौलत राम टम्टा, जाख के पटवारी उमेश चन्द्र शर्मा, पनुवाद्योखन के पटवारी हंसा दत्त सत्यवली आरोपी की तलाश में जाख गांव गए. उन्हें आरोपी मछोड़ में घूमता मिल गया. राजस्व टीम ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया.
राजस्व पुलिस उससे पूछताछ कर रही है. नायब तहसीलदार ने बताया कि आरोपी को रविवार को सीजेएम के सामने पेश किया जाएगा. इधर इस घटना को लेकर पूरे क्षेत्र में चर्चाएं गर्म हैं. बताया जाता है कि दोनों में खास रंजिश नहीं थी लेकिन कुछ साल पहले जब हंसा नेगी गांव के सरपंच थे तब किसी बात को लेकर दोनों के बीच कहासुनी हुई थी. जबकि कुछ लोग इस घटना का कारण दोनों के बीच जमीन की खरीद फरोख्त का विवाद भी मान रहे हैं.