उत्तराखंड आंदोलन के दौरान मैं ‘कौरव सेना’ में थाः राज बब्बर

कांग्रेस नेता राज बब्बर उत्तराखंड से निर्विरोध चुनकर राज्य सभा पहुंच गए हैं. निर्विरोध सांसद चुने जाने के बाद राज बब्बर ने उत्तराखंड के प्रति अपनी आस्था दिखाते हुए एक विवादास्पद बयान दे डाला. उन्होंने समाजवादी पार्टी को कौरवों की सेना कहा और बोले, ‘महाभारत युद्ध (उत्तराखंड आंदोलन) में कौरवों (समाजवादी पार्टी) के पक्ष में रहना मेरा दोष है, लेकिन मैं रामपुर तिराहा कांड का दोषी नहीं हूं.’
[manual_related_posts]

राज बब्बर ने उत्तराखंड राज्य गठन आंदोलन के दौरान खुद की तुलना महाभारत युद्ध में कौरवों की सेना में शामिल होने से की. उन्होंने कहा, घटना (रामपुर तिराहा) को लेकर किसी ने मेरा बयान नहीं सुना होगा. राज बब्बर ने यह बातें उत्तराखंड विधानसभा में पहुंचकर राज्य सभा के लिए चुने जाने का सर्टिफिकेट लेने के बाद कहीं.

रिटर्निंग ऑफिसर जगदीश चंद्र ने शुक्रवार को राज बब्बर को सर्टिफिकेट देकर राज्य सभा के लिए निर्विरोध निर्वाचित घोषित कर दिया. राज बब्बर ने राज्य सभा सदस्यता का प्रमाणपत्र शहीद पार्क जाकर शहीदों के चरणों मे समर्पित किया. उन्होंने खुद पर बाहरी और राज्य विरोधी होने के आरोपों पर भी सफाई देने की कोशिश की. उन्होंने कहा कि मैं संयुक्त उत्तर प्रदेश के समय राज्य सभा का सांसद था. मैं उत्तराखंड लगातार आता रहा हूं और सिनेमा के साथ 1994 से सक्रिय हूं.

राज बब्बर ने कहा, जिस दौरान उत्तराखंड गठन को लेकर आंदोलन चल रहा था मुझे न तो राजनीति का इतना ज्ञान था और न ही पार्टी में दखल थी. उन्होंने कहा, मैंने रूहेलखंड बुंदेलखंड के समर्थन की बात कही है और छोटे राज्यों को अधिकार मिले उसका भी मैं पक्षधर हूं. राज्य से जुड़ाव पर कहा कि पुराना ट्रैक रिकॉर्ड देख लें. क्षेत्र की जनता को भगवान समझता हूं. मैं पूरी तरह से सक्रिय और यहां लगातार आता रहूंगा.

उन्होंने राज्य आंदोलन से जुड़ी महिलाओं को नमन करके उनके योगदान की खूब सराहना की. उन्होंने कहा कि मैं नामांकन के दिन ही शहरी पार्क जाकर शहीदों को श्रद्धाजंलि अर्पित करता, लेकिन मैं चाहता था निर्वाचित होने का प्रमाणपत्र ले जाकर उनके चरणों मे रखूं और उसे दिल्ली ले जाकर उनके संकल्पों और सपनों को पूरा करूं.

राज बब्बर ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, राहुल गांधी के साथ मुख्यमंत्री हरीश रावत, प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय के अपने निर्विरोध चुने जाने के लिए पक्ष और विपक्ष के सभी विधायकों का आभार जताया.