सुबह घर पहुंची दुल्हन, दो घंटे बाद ही दूल्हे का एक्सीडेंट

देहरादून।… नई-नवेली दुल्हन अभी घर पहुंची ही थी कि इसके दो घंटे बाद ही दूल्हा अस्पताल पहुंच गया. जबकि सड़क हादसे में दूल्हे के मामा की मौत हो गई. मामा-मामी को कार से बस अड्डे छोड़ने जा रहे दूल्हे को पूरी रात जागने के कारण नींद की झपकी आ गई. इसी बीच कार अनियंत्रित होकर डिवाइडर पर चढ़कर पलट गई.
[manual_related_posts]

इस दर्दनाक हादसे में दूल्हे के मामा की मौत हो गई, जबकि मामी और खुद दूल्हा घायल हो गए. उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. हादसा देहरादून शहर के जीएमएस रोड पर शिमला बाईपास के पास सुबह करीब 6 बजे हुआ.

देहरादून के गढ़ी कैंट निवासी 29 वर्षीय सुलभ बोरा मर्चेंट नेवी में तैनात हैं. गुरुवार रात उनकी शादी थी. करीब चार बजे दुल्हन लेकर बारात घर लौटी थी. सुबह 6 बजे सुलभ ऊधमसिंह नगर निवासी अपने मामा भारत शमशेर थापा (60) और मामी पुष्पा देवी (55) को कार से आईएसबीटी छोड़ने जा रहे थे.

जीएमएस रोड पर बंसल होम के सामने अचानक उनकी कार का संतुलन बिगड़ गया और डिवाइडर से टकराकर पलट गई. कार की रफ्तार तेज होने से कार टकराने की आवाज दूर तक सुनाई दी. आवाज सुनकर लोग मौके पर पहुंचे और कार में फंसे लोगों को बाहर निकाला.

तीन घायलों को 108 एबुलेंस सेवा से दून अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने 60 वर्षीय भारत शमशेर थापा को मृत घोषित कर दिया, जबकि सुलभ बोरा की हालत गंभीर होने के कारण सीएमआई ले जाया गया. पुष्पा थापा की हालत खतरे से बाहर है. बसंत विहार एसओ प्रदीप चौहान ने बताया कि हादसा कार ड्राइवर को झपकी आने के कारण हुआ.

हादसे में मौत के मुंह में गए भारत शमशेर थापा की बहू बीमार थी. शादी के समय सूचना मिलने के बाद थापा ने पत्नी के साथ सुबह जल्दी ही पंतनगर जाने का कार्यक्रम बनाया था. पौने चार बजे के करीब वेडिंग प्वाइंट से बारात लौटी थी.

मामा-मामी को छोड़ने के लिए कोई नहीं मिला तो सुलभ ही उन्हें छोड़ने के लिए घर से निकल गया था. सुलभ के पिता कुशल सिंह सेना से रिटायर्ड हैं. सुलभ की दुल्हन महाराष्ट्र की रहने वाली है. उसके परिजनों ने देहरादून आकर बेटी की शादी की.