उत्तराखंड की बेटी को मिलेगा अर्जुन पुरस्कार, हॉकी इंडिया ने भेजा प्रस्ताव

हॉकी के मैदान में लगातार अपने गुर के जलवे बिखेर रही उत्तराखंड की बेटी वंदना कटारिया अर्जुन पुरस्कार 2015 की दावेदार बनकर उभरी हैं. जूनियर वर्ल्ड कप हॉकी और एशियन गेम्स में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली भारतीय टीम की सदस्य वंदना के शानदार प्रदर्शन के आधार पर हॉकी इंडिया ने वंदना का नाम प्रस्तावित किया है.
[manual_related_posts]

हरिद्वार के रोशनाबाद की रहने वाली वंदना कटारिया ने 2013 में जूनियर महिला हॉकी वर्ल्ड कप और साल 2014 में एशियन गेम्स में ब्रॉन्ज मेडल विजेता भारतीय महिला हॉकी टीम की खिलाड़ी रही हैं. नई दिल्ली में चल रही महिला हॉकी विश्व लीग-2 में भी छह गोल दागकर वंदना टॉप पर हैं.

वंदना के ट्रेनर और टिहरी के जिला खेल अधिकारी कृष्ण कुमार ने बताया कि हॉकी इंडिया की ओर से वंदना का नाम पुरस्कार के लिए प्रस्तावित करने की जानकारी मिली है. उन्होंने बताया कि वंदना के घर हॉकी इंडिया ने एक आवेदन पत्र भेजा है. इस पर वंदना को अपनी पूरी उपलब्धियों की जानकारी भरने के बाद स्थानीय सांसद और जिलाधिकारी से प्रमाणित करवाना है.

कृष्ण कुमार ने उम्मीद जताई कि वंदना को इस वर्ष का पुरस्कार मिल सकता है. बताया कि वंदना वर्ष 2007 से मार्च 2015 तक 115 अंतरराष्ट्रीय मैच में आधा दर्जन से ज्यादा मेडल जीत चुकी हैं.