खुलासा… तो उस समय विधायक खरीदने पर आमादा थे केजरीवाल

आम आदमी पार्टी में कुछ भी ठीक नहीं चल रहा है. एक के बाद एक ऐसे खुलासे हो रहे हैं, जो पार्टी और अरविंद केजरीवाल की छवि को धूमिल करते जा रहे हैं. अब पूर्व AAP विधायक राजेश गर्ग ने एक बेहद चौंकाने वाला ऑडियो टेप जारी किया है. उनका दावा है कि टेप में सुनाई दे रही आवाज उनकी और केजरीवाल की है, यह टेप पिछले साथ दिल्ली विधानसभा भंग होने से पहले का है.
[manual_related_posts]

टेप को हिन्दी न्यूड चैनल इंडिया टीवी ने प्रसारित किया है. ऑडियो टेप सामने आने के बाद महाराष्ट्र में ‘AAP’ नेता अंजलि दमानिया ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने ट्वीट करके कहा है कि मैंने विश्वास किया और सिद्धांतों के आधार पर अरविंद का समर्थन किया था, इस खरीद-फरोख्त के लिए नहीं. मैं इस बकवास के लिए ‘AAP’ में नहीं आई थी.

गौरतलब है कि 2013 में हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव में ‘आप’ को 28 सीटें मिली थीं. बीजेपी को 32, कांग्रेस को 8 और अन्य के खाते में दो सीटें गई थीं. उस समय केजरीवाल को कांग्रेस के 6 और अन्य के दो विधायक मिल जाते तो उनकी सरकार बन जाती. इन दिनों AAP में सिर फुटौव्वल जारी है और भीतरी आघात भी पार्टी की छवि खराब कर रहे हैं. ऐसे में ये ऑडियो टेप पार्टी के लिए और मुसीबत लेकर आ सकता है.

ये हैं ऑडियो टेप के खास अंश…

राजेश गर्ग: नमस्कार भाई साहब.
अरविंद केजरीवाल: नमस्कार, कैसे हैं आप?

राजेश गर्ग: मैं एकदम ठीक हूं सर.
अरविंद केजरीवाल: हम तैयार हैं, लेकिन वे राजी नहीं हो रहे हैं. मेरा मतलब उनसे है जो मनीष और दूसरों से संपर्क में हैं.

राजेश गर्ग: ऐसा नहीं है… सभी आठ विधायक तैयार हैं. अजय माकन, सुरजेवाला और कांग्रेस कार्यसमिति के दूसरे सदस्य रोड़ा बन रहे हैं. वे कह रहे हैं कि हम पूरी तरह से बर्बाद हो जाएंगे.
अरविंद केजरीवाल: ऐसी स्थिति में हमें क्या करना चाहिए. उनके सोच-विचार की वजह से उनकी तरफ से अंतिम फैसला नहीं हो पा रहा.. अब हम क्या कर सकते हैं. मैंने हर किसी के साथ कई बार कोशिश कर ली है.

राजेश गर्ग: ऐसी स्थिति में हम एक अपील जारी कर सकते हैं कि मोहल्ला लेवल की मीटिंग का आयोजन करने जा रहे हैं और ऐसी राय उसमें आ रही है…अगर कोई हमें समर्थन देने के लिए तैयार है, हम सरकार बनाने का दावा पेश कर रहे हैं.
अरविंद केजरीवाल: हम ऐसा करें या नहीं.

राजेश गर्ग: मैं सिर्फ आपके साथ चर्चा कर रहा हूं.
अरविंद केजरीवाल: नहीं, नहीं… मैं क्या कह रहा हूं कि अब हमें नहीं बोलना चाहिए.

राजेश गर्ग: ठीक है.
अरविंद केजरीवाल: अगर वे तैयार हो जाते हैं, तो हम भी तैयार हैं.

राजेश गर्ग: ठीक है.
अरविंद केजरीवाल: इस मोड़ पर बोलने से गलत संदेश जाएगा और वे सोचेंगे कि हम उनके समर्थन के लिए बेचैन हैं.

राजेश गर्ग: ऐसे में कहीं बहुत देर न हो जाए. कारण यह है कि विधानसभा भंग होने की सिफारिश के बाद हमारे हाथ में कुछ भी नहीं रह जाएगा.
अरविंद केजरीवाल: आपकी बात ठीक है लेकिन और क्या कर सकते हैं. अगर हमने घोषणा कर दी और उन्होंने समर्थन नहीं दिया तो हम कहीं के नहीं रहेंगे.

राजेश गर्ग: छवि खत्म हो जाएगी.
अरविंद केजरीवाल: धब्बा लग जाएगा.. इसका मतलब है कि अंतिम फैसले से पहले कुछ भी घोषणा करने से हम खतरों से घिर जाएंगे.

राजेश गर्ग: हां, आपकी बात ठीक है. आज मैं इस पर कोशिश करता हूं.
अरविंद केजरीवाल: आप प्लीज उन लोगों से बात कीजिए.

राजेश गर्ग: हमें सुरक्षित तरीके से आगे बढ़ना होगा.
अरविंद केजरीवाल: हां हां…

राजेश गर्ग: यह बात है…आज मैं कोशिश करूंगा.
अरविंद केजरीवाल: यह उसी तरह है कि 6 विधायक अलग हो जाएं और बीजेपी को सपोर्ट करें.

राजेश गर्ग: हरि शंकर गुप्ता, जो पूर्व विधायक हैं और अजय माकन के बहुत करीबी दोस्त हैं, उन्होंने कल रात मुझे फोन किया था. उन्होंने बात शुरू की और मैंने बाद में मनीष भाई से बात की थी. गुप्ता ने बताया कि लवली, हारुन समेत सभी आठ एमएलए से उन्होंने मीटिंग की थी. मसला अब एआईसीसी में अटका है.
अरविंद केजरीवाल: हां.

राजेश गर्ग: अगर उन्होंने बीजेपी को सपोर्ट कर दिया तो वे बहुत ताकतवर हो जाएंगे और काम करके दिखा देंगे. इसके बाद हम कुछ भी करने की स्थिति में नहीं होंगे.
अरविंद केजरीवाल: हां…

राजेश गर्ग: वो मतीन अहमद अड़ा हुआ है कि अगर ऐसा हुआ तो वह छोड़ देगा. प्रताप सिंह सैनी और देवेंद्र यादव ने मुझे फोन किया था.
अरविंद केजरीवाल: मैं आपको एक बात कहता हूं. आप इन छह विधायकों को तोड़ने की कोशिश कीजिए और उन्हें एक पार्टी बनाने दीजिए और फिर वे हमें बाहर से समर्थन दें.

राजेश गर्ग: ठीक है. मैं कोशिश करूंगा और प्लान करता हूं.
अरविंद केजरीवाल: ये छह विधायक बीजेपी को सपोर्ट करने के लिए तैयार थे, लेकिन कर नहीं पाए क्योंकि तीन मुस्लिम हैं.

राजेश गर्ग: ये तीन मुस्लिम विधायक बीजेपी के साथ कभी नहीं जाएंगे.
अरविंद केजरीवाल: अगर वे बीजेपी के साथ नहीं जा सकते तो हमें समर्थन क्यों नहीं देते.

राजेश गर्ग: आज मैं इस पर देखता हूं.
अरविंद केजरीवाल: ठीक है.