नाबालिग से रेप मामले में 10 साल की कैद, गर्भवती हो गई थी किशोरी

मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (सीजेएम) यूएस नबियाल की अदालत ने नाबालिग के साथ रेप के मामले में आरोपी को दोषी करार देते हुए दस साल के सश्रम कारावास और पचास हजार रुपये आर्थिक दंड की सजा सुनाई है.
[manual_related_posts]

मामला चमोली जिले के गोपेश्वर क्षेत्र में अप्रैल 2014 का है. जंगल में मवेशियों को चराने गई एक 16 वर्षीय नाबालिग को क्षेत्र के ही एक व्यक्ति ने अपनी हवस का शिकार बना लिया था.

पीड़िता के माता-पिता को तब इस घटना के बारे में पता तब चला, जब पेट दर्द की शिकायत होने पर किशोरी को स्थानीय अस्पताल ले जाया गया. डॉक्टरों ने उसके गर्भवती होने की बात कही, तो माता-पिता के पांव के नीचे जमीन खिसक गई.

इसके बाद पीड़िता ने परिवार को आपबीती बताई. इस पर पीड़िता के पिता ने सात अक्टूबर को आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कराया और पुलिस ने आरोपी गंगा सिंह को गिरफ्तार कर लिया.

मंगलवार को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ने गंगा सिंह के खिलाफ अपराध साबित होने के बाद उसे सजा सुनाई. आरोपी अभी तक न्यायिक हिरासत में था. मामले में सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता कुलदीप सिंह बर्त्वाल ने पैरवी की.