‘आम आदमी पार्टी पर कब्जा करना चाहते हैं योगेंद्र और प्रशांत’

नई दिल्ली।… आम आदमी पार्टी (AAP) की अंदरुनी कलह थमने का नाम नहीं ले रही है. पंजाब में संगरूर से AAP सांसद भगवंत मान ने सोमवार को मांग की है कि योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को पीएसी ही नहीं पार्टी से निकाला जाए.
[manual_related_posts]

एक निजी समाचार चैनल से बात करते हुए भगवंत मान ने कहा कि चाहे कोई कितना भी सीनियर क्यों ना हो अगर वह पार्टी को कमजोर करने के लिए साजिश रच रहा है, पार्टी को चुनाव में हराने के लिए षडयंत्र रच रहा है तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होनी ही चाहिए और इनको पार्टी से निकाल देना चाहिए.

भगवंत ने आरोप लगाते हुए कहा कि प्रशांत भूषण ने चुनाव के दौराव वॉलंटियर्स को फोन करके कहा कि दिल्ली आने की जरूरत नहीं, दिल्ली तो हमको हारनी ह. विदेशों में जो ‘आप’ समर्थक चंदा देना चाहते थे उनको फोन करके कहा कि चंदा देने की जरूरत नहीं है, दिल्ली हमने हारनी है और चुनाव से दो हफ्ते पहले आशीष खेतान को फोन करके कहा कि मैं चाहता हूं, हमारी पार्टी हार जाए.

भगवंत यहीं नहीं रुके, उन्होंने पार्टी के थिंक टैंक माने जाने वाले योगेंद्र यादव पर भी आरोप लगाया और कहा कि उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल के खिलाफ मीडिया में खबरें प्लांट कराई. मान ने कहा कि इन दोनों की लड़ाई उसूलों की नहीं, बल्कि व्यक्तिगत है और ये लोग पार्टी पर कब्जा करना चाहते हैं, जो हम होने नहीं देंगे.

लगता है कि पार्टी का केजरीवाल गुट कुछ दिन शांत रहने के बात अब योगेंद्र यादव व प्रशांत भूषण के गुट को खुलकर आड़े हाथों लेने की रणनीति पर चल पड़ा है. इसके लिए एक के बाद नेता मीडिया में सामने आ रह है. लेकिन व्यक्तिगत तौर पर क्योंकि पार्टी का आधिकारिक बयान अभी तक सामने नहीं आया है.