राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी इस साल आएंगे केदारनाथ

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय ने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात की. दोनों नेता महामहिम से मुलाकात करने के लिए राष्ट्रपति भवन पहुंचे और उन्हें इस साल केदारनाथ आने का न्यौता दिया. राष्ट्रपति ने भी रावत के इस स्नेह निमंत्रण को खुशी-खुशी स्वीकार कर लिया.

मुख्यमंत्री ने अप्रैल में भगवान केदारनाथ के कपाट खुलने के पावन अवसर पर उन्हें केदारनाथ आने और भगवान के दर्शन करने का आग्रह किया. राष्ट्रपति ने उनके आग्रह को सहर्ष स्वीकार किया और अब तय हो गया है कि वे केदारनाथ के कपाट खुलने के अवसर पर वहां मौजूद रहेंगे.

हरीश रावत ने कहा, अगर इस साल चारधाम यात्रा पर स्वयं राष्ट्रपति आते हैं तो इससे देश और दुनिया में सुरक्ष‍ित चारधाम यात्रा का संदेश जाएगा. मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष ने राज्य के निवासियों की ओर से उन्हें विध‍िवत निमंत्रण पत्र भी सौंपा.

[manual_related_posts]
मुख्यमंत्री ने राष्ट्रपति को केदारनाथ आपदा के बाद सरकार की ओर से किए गए पुनर्निर्माण और पुनर्वास कार्यों की जानकारी दी. उन्होंने बताया कि अप्रैल में चारधाम केदारनाथ, बद्रीनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री की यात्रा शुरू होने वाली है. केदारनाथ धाम के कपाट 24 और बद्रीनाथ के कपाट 25 अप्रैल को खुलने की तिथि निर्धारित हो गई है.

रावत ने बताया कि 2013 की आपदा के कारण भगवान केदारनाथ के मंदिर और परिसर को काफी नुकसान हुआ था. इससे देश-दुनिया में असुरक्षित यात्रा का गलत संदेश गया था. सरकार का दावा है कि उन्होंने केदारनाथ मंदिर की सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने के साथ ही यात्रा पर आने वाले तीर्थ यात्रियों के लिए भी सभी व्यवस्थाएं पूरी कर ली हैं.