आज देहरादून में कैबिनेट मीटिंग, कई महत्वपूर्ण प्रस्तावों पर होगी चर्चा

देहरादून।… उत्तराखंड की अस्थायी राजधानी देहरादून में सोमवार को राज्य कैबिनेट की बैठक बुलायी गई है. कैबिनेट बैठक के लिए पहली बार रविवार को सचिवालय को खोला गया. रविवार पूरे दिन आबकारी विभाग के एफएल-2 को लेकर माथापच्ची हुई. इस बीच 2015-16 के बजट के ड्राफ्ट को भी फाइनल टच दिया गया. दोनों को सोमवार हो होने वाली कैबिनेट मीटिंग में रखे जाने की संभावना है.

एफएल-2 और बजट ड्राफ्ट को रविवार देर शाम तक मंत्रियों के बीच नहीं बांटा जा सका. अब इसे सीधा कैबिनेट की बैठक में ही रखे जाने की तैयारी है. एफएल-2 पर तो पिछले साल भी विपक्ष ने विधानसभा की कार्यवाही नहीं चलने दी थी.

आबकारी नीति में बदलाव कर पूरे राज्य में दो कंपनियों को एकाधिकार देने की कवायद पहले ही पूरी हो चुकी है. पिछले साल इसका शासनादेश भी जारी हो गया था, लेकिन बाद में विपक्ष के दबाव में इसे वापस लेना पड़ गया और बाद में कहा गया कि शासनादेश जारी ही नहीं हुआ .

एक बार कैबिनेट में एफएल-2 पास हो गया तो, इसके बाद पूरे राज्य में केवल दो ही कंपनियां शराब की आपूर्ति करेंगी. जबकि मौजूदा सभी 22 कंपनियां होने के कारण प्रतिस्पर्धा के साथ-साथ विभिन्न तरह के ब्रांड ग्राहकों के लिए उपलब्ध रहते हैं.

मुख्य सचिव एन. रविशंकर व अपर मुख्य सचिव राकेश शर्मा भी रविवार को दिनभर अफसरों के साथ बैठक कर राज्य सरकार के बजट ड्राफ्ट को अंतिम रूप देते रहे. इन दो जरूरी मुद्दों के अलावा खनन व लघु उद्योग से संबंधित नीति, कई विभागों की सेवा नियमावली आदि भी सोमवार को कैबिनेट में रखे जाने की संभावना है.