अब पूरे देश में मिलेगी मोबाइल नंबर पोर्टेब्लिटी की सुविधा

नई दिल्ली।… मोबाइल नंबर पोर्टेब्लिटी के आने से ग्राहकों को घटिया नेटवर्क सुविधाएं देने वाले टेलिकॉम ऑपरेटर से छुटकारा मिला था. लेकिन शहर बदलने पर उसे नंबर बदलना पड़ता था, या अपने उसी पुराने नंबर को रोमिंग की सुविधा के साथ यूज करना पड़ता था. लेकिन अब वो दिन भी समझो लद गए.

जी हां, आगामी 3 मई से ग्राहक अपने उसी पुराने नंबर को दूसरे शहर में श‍िफ्ट होने पर भी इस्तेमाल कर सकेंगे. यानी इस दिन से पूर्ण एमएनपी पूरे देश में लागू हो जाएगी. अब आपको काम के सिलसिले में किसी दूसरे शहर में श‍िफ्ट होना पड़ता है या किसी अन्य शहर से वापस अपने शहर-गांव या राज्य में आते हैं तो आप अपने पुराने नंबर को ही पोर्ट करके उस जगह इस्तेमाल कर पाएंगे.

दरअसल बुधवार को ट्राई ने एक बयान में कहा कि उसने टेलीकम्युनिकेशन मोबाइल नंबर पोर्टिबिलिटी (एमएनपी) के लिए आदेश जारी किया है. यह 3 मई, 2015 से पूरे देश में लागू होगा. देश की सबसे बड़ी टेलीकॉम संस्था टेलीकॉम कमीशन ने पिछले साल जून में सैद्धांतिक रूप से पूर्ण एमएनपी को हरी झंडी दिखा दी थी. इसके तहत किसी भी मोबाइल यूजर को देशभर में अपना मोबाइल नंबर रखने की इजाजत मिल जाएगी.

अब ग्राहक को दूसरे शहर या सर्किल में जाकर अपना मोबाइल नंबर बदलने की जरूरत नहीं होगी. इससे वह नए ऑपरेटर के यहां जाकर नया नंबर लेने की परेशानी से भी बच जाएगा. फिल्हाल देशभर में कुल 22 टेलिकॉम सर्किल हैं. उत्तर प्रदेश जैसे कुछ राज्यों में तो दो सर्किल भी हैं.

इस नए आदेश के बाद ग्राहक अपना वही पुराना मोबाइल नंबर किसी भी शहर में ले जा सकेगा. अभी तक यह सुविधा नहीं थी और दूसरे शहर में जाते ही उसे रोमिंग चार्ज देने पड़ता था. 3 मई से ग्राहकों को रोमिंग चार्ज से पूरी तरह छुटकारा मिल जाएगा. ये सुविधा लेने के लिए ग्राहक को पहले अपनी पुराने सर्किल की पुरानी कंपनी को पूरे बिल का भुगतान करना होगा. ऐसा नहीं करने पर उसे पोर्टेब्लि‍टी की सुविधा नहीं मिलेगी.