जल्द ही आप घर बैठे इंटरनेट से भी कर पाएंगे मतदान

वोटिंग के दिन दिन छुट्टी घोषित की जाती है, ताकि आप मतदान कर सकें. लेकिन बहुत से लोग ऐसे भी हैं जो इस दिन सिर्फ छुट्टी मनाते हैं और चुनाव बूथ पर लम्बी-लम्बी लाइनों का बहाना बनाकर वोट डालने नहीं जाते. लेकिन अब ऐसा वक्त भी आ सकता है, जब खुद चुनाव आयोग आपसे कहेगा, अच्छा ठीक आप चुनाव बूथ पर वोट डालने मत आओ.

जी हां, मुख्य निर्वाचन आयुक्त एचएस ब्रह्मा ने शुक्रवार को कहा कि आने वाले दिनों में इंटरनेट के जरिए वोटिंग की संभावना तलाशी जा रही है. उन्होंने कहा, इस दिशा में पहला कदम मतदाता सूची को पूरी तरह से त्रुटि मुक्त बनाना है. हालांकि, मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने इस बारे में कोई निश्चित समय-सीमा नहीं बताई.

ब्रह्मा ने कहा, युवा मतदाताओं को लगता है कि इंटरनेट वोटिंग से समय, संसाधन और ऊर्जा की बचत हो सकती है, लेकिन इसके लिए आयोग को धन, आधारभूत संरचना और कुछ ट्रेनिंग की जरूरत होगी. उन्होंने कहा, भारत में निश्चित तौर इंटरनेट वोटिंग शुरू हो सकती है.

राजधानी दिल्ली में एक संवाददाता सम्मेलन में ब्रह्मा ने कहा कि जब वे दिल्ली विधानसभा चुनाव में वोट डालने के लिए लाइन में खड़े थे, तो उनके सामने पांच युवा मतदाता थे, जो कह रहे थे कि वोट डालने में तो कुछ सेकेंड ही लगते हैं लेकिन इसके लिए लाइन में दो घंटे तक खड़ा रहना एक मुश्किल काम है.

हालांकि, केंद्रीय कानून मंत्री सदानंद गौड़ा ने लोकसभा में एक लिखित जवाब में बताया है कि फिलहाल इंटरनेट वोटिंग शुरू करने की कोई योजना नहीं है. आयोग तीन मार्च से 15 अगस्त तक राष्ट्रीय मतदाता पहचान पत्र के शुद्धीकरण और सत्यापन के लिए कार्यक्रम चलाने जा रहा है. इस कार्यक्रम के दौरान आयोग मतदाता फोटो पहचान पत्र को आधार नंबर से जोड़ेगा, इस व्यवस्था से एक ही व्यक्ति को दोबारा पहचान पत्र जारी होने की संभावना ना के बराबर हो जाएगी.