मोदी के ‘मन की बात’: परीक्षा से ना घबराएं, मैं भी अच्छा स्टूडेंट नहीं था

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को उन छात्रों से ‘मन की बात’ की जो इस बार बोर्ड परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं. मोदी ने सबसे पहले छात्रों से कहा, ‘वो आज परीक्षा में पास होने, पेपर लिखने का तरीका या ज्यादा मार्क्स लाने का फॉर्मूला नहीं बताने वाले बल्कि परीक्षा को सकारात्मक तरीके से कैसे लिया जाए ये बताने आए हैं.’

‘मन की बात’ करते हुए पीएम मोदी ने परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्रों का उत्साह बढ़ाया और कहा कि परीक्षा को हमेशा सकारात्मक तरीके से लें. उन्होंने कहा, परीक्षा के नाम से घबराने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है. प्रधानमंत्री ने छात्रों से यह भी कहा कि कभी भी परीक्षा के रिजल्ट को लेकर चिंतित नहीं रहना चाहिए, बस अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने पर जोर देना चाहिए.

मोदी ने हल्के-फुल्के अंदाज में छात्रों को बताया कि वो खुद भी एक अच्छे स्टूडेंट नहीं थे और किसी भी परीक्षा में अच्छे अंकों से पास नहीं हुए. पीएम मोदी ने बताया कि उनकी हैंडराइटिंग भी बेहद खराब थी.

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पिछले साल अक्टूबर से हर महीने रेडियो के जरिए देशवासियों से अलग-अलग मुद्दों पर जु़ड़ते रहते हैं. इस कार्यक्रम का प्रसारण रविवार सुबह 11 बजे होता है, लेकिन 22 फरवरी को वर्ल्ड कप में भारत-दक्षिण अफ्रीका मैच होने के कारण इसका समय बदलकर रात आठ बजे किया गया था. टीम इंडिया मैच जीत चुकी है, इसलिए मोदी का यह प्रोग्राम और भी दिलचस्प रहा.

पिछले महीने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के साथ ‘मन की बात’ के जरिए देशवासियों को संबोधित किया था.