साहिया-समाल्टा मार्ग खुलवाने के लिए ग्रामीणों ने PWD ऑफिस में किया प्रदर्शन

साहिया।… देहरादून जिले में 11 गांवों को मुख्यमार्ग से जोड़ने वाले साहिया-समाल्टा मार्ग पर जमा मलबे को हटाने के लिए जेसीबी नहीं भेजने पर ग्रामीणों का गुस्सा भड़क गया. ग्रामीणों ने शुक्रवार को ब्लॉक प्रमुख कालसी के नेतृत्व में पीडब्ल्यूडी ऑफिस साहिया में प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकरियों ने पीडब्ल्यूडी अधिकारियों पर वादाखिलाफी का भी आरोप लगाया और जमकर नारेबाजी की. ग्रामीणों ने बंद पड़े मार्ग को खोलने के लिए चंदे की रकम से प्राइवेट मशीन मंगवाई.

विकासखंड कालसी के अंतर्गत साहिया क्षेत्र के समाल्टा, बमराड़, थथेऊ, इच्छाला, फटेऊ, जिसोऊ, डामटा, दुधौली व माथला सहित आसपास के 11 गांवों को जोड़ने वाले साहिया-समाल्टा मार्ग पर जमा मलबे के कारण आवाजाही बंद है. पिछले कुछ दिनों से बंद पड़े इस मार्ग की वजह से ग्रामीणों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.

लोगों ने कहा कि कुछ दिन पहले बमराड़ मंदिर के पास मैदान समतलीकरण कार्य के चलते इस मार्ग पर मलबा जमा हो गया था. मलबा जमा होने के कारण यहां से वाहनों की आवाजाही अवरुद्ध हो गई. ग्रामीणों की मांग पर पीडब्ल्यूडी अधिकारियों ने मलबा आने से बाधित साहिया-समाल्टा मार्ग खोलने को जल्द जेसीबी भेजने का वादा किया था, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई.

अधिकारियों की वादाखिलाफी से नाराज दर्जनों ग्रामीणों ने शुक्रवार को ब्लॉक प्रमुख कालसी अर्जुन सिंह चौहान के नेतृत्व में पीडब्ल्यूडी ऑफिस साहिया में विरोध प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों का कहना था पीडब्ल्यूडी अधिकारियों के जेसीबी नहीं भेजने की वजह से ग्रामीणों को इस मार्ग को खोलने के लिए खुद के खर्चे पर प्राइवेट जेसीबी मंगानी पड़ी.