प्रेमिका संग भागकर नैनीताल पहुंचा कुशीनगर का युवक, मां के कंगन भी चुरा लाया

नैनीताल।… उत्तर प्रदेश के कुशीनगर का एक युवक वहीं एक लड़की से प्यार करता था. वह अपनी प्रेमिका के साथ ही शादी करना चाहता था. लेकिन पिता दरोगा हैं, नहीं मानें. मां ने भी इस शादी के लिए हामी नहीं भरी. बस फिर क्या था, वह लड़की के साथ फरार हो गया और घूमते हुए चुपके सै नैनीताल पहुंच गया.

कहानी इतनी सी नहीं है और इतनी आसान भी नहीं है. दरोगा का बेटा घर से भागा तो अपनी मां के कंगन भी चुरा लाया. यहां तक कहानी प्रेमी जोड़े के पक्ष में थी, कहानी में जबरदस्त ट्विस्ट तब आया जब युवक ने अपनी मां के कंगन एक सर्राफ के यहां बेचने की कोश‍िश की. बस फिर क्या था, वो पुलिस के हत्थे चढ़ गए और पुलिस ने दोनों के परिजनों को प्रेमी जोड़े के नैनीताल में होने की सूचना दे दी.

युवक का नाम संदीप कुमार है और उसकी उम्र 22 साल है. जिला कुशीनगर, तहसील हाटा, रामपुर बुजरू गांव निवासी संदीप के पिता का नाम योगेंद्र आजाद है. उसे पड़ोस के ही गांव विशनपुर तहसील गौरी बाजार, जिला देवरिया की रहने वाली 19 वर्षीय लडकी से प्रेम हो गया. प्रेमी जोड़े के घरवाले उनकी शादी के लिए तैयार नहीं हुए तो दोनों 10 फरवरी को घर से फरार हो गए और 14 फरवरी वेलैनटाइन डे के दिन नैनीताल पहुंच गए.

संदीप आते समय अपनी मां के सोने के चार कंगन भी ले आया. शनिवार दोपहर बाद संदीप व उसकी प्रेमिका मल्लीताल बाजार में ज्वैलर्स की दुकान में कंगन की सौदेबाजी करने पहुंचे तो दुकानदार ने इसकी सूचना कोतवाली पुलिस को दे दी. खबर मिलते ही सब-इंस्पेक्टर जितेंद्र गब्रयाल मौके पर पहुंचे और दोनों को कोतवाली ले आए. कोतवाली में संदीप ने बताया कि उसके दरोगा पिता महराजगंज जिले में नेपाल सीमा पर ठूठीबाड़ी में तैनात हैं.

पुलिस ने संदीप के परिजनों को उसके यहां पहुंचने की सूचना दे दी. संदीप व उसकी प्रेमिका का कहना है कि उन्हें परिजनों से खतरा है और वह उनके साथ नहीं जाएंगे. दोनों शादी करने को राजी हैं. प्रभारी कोतवाल कैलाश जोशी के अनुसार फिलहाल दोनों से पूछताछ की जा रही है. यह भी पता लगाया जा रहा है कि परिजनों ने मुकदमा दर्ज कराया है या नहीं. प्रेमी प्राइवेट बीए की पढ़ाई कर रहा है तो प्रेमिका हाईस्कूल पास है.