उधमसिंह नगर में 6000 से ज्यादा LPG कनेक्शन ब्लॉक

रुद्रपुर।… डीबीटीएल फॉर्म जमा किए बगैर अब तक गैस सिलेंडर ले रहे उधमसिंह नगर जिले के 6000 से ज्यादा उपभोक्ताओं के एलपीजी कनेक्शन अवैध घोषित कर ब्लॉक कर दिए गए हैं. इनमें से 4500 कनेक्शन अकेले रुद्रपुर शहर के ही हैं. ब्लॉक होने वाले ज्यादातर कनेक्शन इंडेन गैस कंपनी के ही हैं.

उपभोक्ताओं को गैस पर मिलने वाली सब्सिडी बैंक खातों में पहुंचाने के लिए भरे जा रहे डीबीटीएल फॉर्म की सुस्त रफ्तार को लेकर अक्सर अखबारों और टीवी चैनलों पर खबरें आती रहती हैं. जिला प्रशासन ने गैस एजेंसियों के मैनेजरों की बैठक कर तीन दिन के अंदर अवैध कनेक्शनों को ब्लॉक करने व डीबीटीएल फॉर्म जमा कराने के निर्देश दिए थे. बुधवार को जिला पूर्ति अधिकारी विपिन कुमार ने बताया कि 18 फरवरी को पूरे जिले में डीबीटीएल फॉर्म जमा करने वालों का आंकड़ा जो एक हफ्ते पहले 60.8 फीसदी था. बुधवार को बढ़कर मात्र 65 फीसदी तक ही पहुंच पाया.

जिले में तीनों कंपनियों के 6000 से ज्यादा कनेक्शनों को बिना डीबीटीएल फॉर्म भरे लगातार गैस लेने पर अवैध घोषित कर ब्लॉक कर दिया गया है. इन कनेक्शनों में 4500 कनेक्शन तो अकेले रुद्रपुर शहर के अवैध पाए गए हैं. इनमें से 4000 कनेक्शन सिर्फ इंडेन के ही है. बताया गया कि उपभोक्ताओं से प्रचार कर जल्द से जल्द फॉर्म जमा करने को कहा जा रहा है. अगर वे अपना डीबीटीएल फॉर्म जल्द नहीं जमा करते तो उनके कनेक्शन अवैध घोषित कर ब्लॉक कर दिए जाएंगे.

उधमसिंह नगर जिले में कुल 2,74,165 गैस कनेक्शन हैं. इनमें बीपीसीएल के 52,406, एचपीसीएल के 15,557 व इंडेन के 2,06,202 उपभोक्ता हैं. इनमें से अभी तक सिर्फ 65 फीसदी यानी 1,78,207 कनेक्शनों के डीबीटीएल फॉर्म ही जमा हुए है. अब भी 96,000 कनेक्शन बिना डीबीटीएल फॉर्म जमा किए ही गैस की सुविधा ले रहे हैं.