देहरादून के पुरातात्विक स्थलों की जानकारी जल्द ही मिलेगी आपके मोबाइल में

देहरादून के पुरातात्विक स्थानों के बारे में अगर आप नहीं जानते हैं तो परेशान ना हों, जल्द ही सभी पुरातात्विक स्थान आपकी जेब में होंगे. दरअसल, भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) का दून सर्किल एक ऐसा मोबाइल एप्लिकेशन तैयार करा रहा है, जिसे डाउनलोड करते ही सभी स्थानीय स्थलों के बारे में जानकारी आपके स्मार्टफोन पर उपलब्ध होगी.

इस एप्लिकेशन में इन स्थलों के इतिहास, मुख्य स्थानों से उनकी दूरी और उनकी पुरातात्विक महत्ता के बारे में सारी जानकारी उपलब्ध होगी. एएसआई का दिल्ली सर्किल इस तरह का मोबाइल एप्लिकेशन पहले ही बना चुका है. उसका प्रयोग भी सफल रहा है.

एएसआई दून सर्किल के सुप्रीटेंडेंट पुरातत्वविद् वसंत स्वर्णकार का कहना है कि 360 डिग्री नाम के उस एप्लिकेशन का विशेषकर विदेशी पर्यटकों ने खासा लाभ उठाया है. इसी तर्ज पर अब उत्तराखंड और खास तौर पर देहरादून पहुंचने वाले पर्यटकों को सुविधा देने की तैयारी है. दिल्ली की ही तर्ज पर दून सर्किल के तहत आने वाली पुरातात्विक धरोहरों की भी डाक्यूमेंट्री तैयार की जा रही है, जो इस साल मार्च के अंतिम हफ्ते तक पूरी हो जाएगी.

फिलहाल एएसआई के देहरादून जिले में ये 6 स्मारक हैं
अशोक शिलालेख, कालसी
शिव मंदिर, लाखामंडल
महासू मंदिर, हनोल
प्राचीन अवशेष, जगतग्राम, बड़वाल
उत्खनित साइट, वीरभद्र, ऋषिकेश
खलंगा स्मारक, सहस्त्रधारा रोड