केजरीवाल ने ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, ‘5 साल में दिल्ली होगी भ्रष्टाचार मुक्त’

आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक अरविंद केजरीवाल को उप-राज्यपाल नजीब जंग ने शनिवार को रामलीला मैदान में दिल्ली के आठवें मुख्यमंत्री के रूप में पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई. केजरीवाल के बाद उनके करीबी सहयोगी और पटपड़गंज के विधायक मनीष सिसोदिया ने शपथ ली. मंत्री पद की शपथ लेने वाले अन्य 5 विधायक आसिम अहमद खान, संदीप कुमार, सत्येंद्र जैन, गोपाल राय और जितेंद्र सिंह तोमर हैं. इस मौके पर अपने भाषण में कजरीवाल ने कहा कि 5 साल में दिल्ली को देश का पहला भ्रष्टाचार मुक्त राज्य बनाएंगे.

AAP ने ठीक एक साल बाद शानदार वापसी करते हुए दिल्ली विधानसभा चुनाव में 70 में से 67 सीटों पर जीत दर्ज की है. दिसंबर 2013 विधानसभा में पहली बार चुनाव लड़ने वाली आप को 28 सीटों पर जीत मिली थी और इसने कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाई थी, लेकिन दिल्ली लोकपाल विधेयक पारित न करा पाने का हवाला देते हुए उन्होंने ने 49 दिन बाद ही पिछले साल 14 फरवरी को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था.

शपथ ग्रहण समारोह के बाद केजरीवाल ने भाषण देते हुए कहा, ‘हम सौभाग्यशाली हैं कि ऊपर वाले ने हमें अपने काम के लिए चुना है. 70 में से 67 सीटें किसी आदमी की मेहनत से नहीं मिल सकती है.’ उन्होंने इस मौके पर पार्टी के नेताओं को अहंकार से बचने की हिदायत दी. दिल्ली के नए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘कांग्रेस और बीजेपी को जनता ने अहंकार की सजा दी है. कुछ दिनों से टीवी पर दिख रहा है कि हमारे नेता कह रहे हैं कि हम यहां का चुनाव लड़ेगे, वहां का चुनाव लड़ेंगे. उनकी बातों में मुझे कहीं न कहीं अहंकार दिखता है. मैं कहना चाहता हूं कि 5 साल तक दिल्ली में रहूंगा और यहां की सेवा करूंगा.’

केजरीवाल ने कहा कि 49 दिनों की सरकार में भ्रष्टाचार खत्म हो गए थे और भ्रष्टाचारी घबराने लगे थे. उन्होंने पिछली बार की तरह ही जनता से कहा कि दिल्ली में अब कोई घूस मांगे तो इनकार मत कीजिएगा, सेटिंग कर लीजिएगा और रिकॉर्डिंग करके हमें भेज दीजिएगा. उन्होंने कहा कि इसके लिए हम जल्द ही हेल्पलाइन नंबर जारी करेंगे. दिल्ली के मुख्यमंत्री ने मीडिया से भी आग्रह किया कि वह समयसीमा को लेकर दबाव न बनाए. उन्होंने कहा कि मैं जहां भी जाता हूं, मीडिया के लोग माइक लगाकर पूछते हैं कि जनलोकपाल कब पास करेंगे, मैं उनसे कहता हूं कि जनता ने हमें 5 साल दिए हैं और इस अवधि में हम सारे वादे पूरा करेंगे.

kejriwal_cm

इससे पहले अपने घर से निकलने से पहले उन्होंने अपनी मां से आशीर्वाद लिया. अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनिता केजरीवाल और परिवार के अऩ्य सदस्य रामलीला मैदान जाने के लिए पहले ही निकल गए थे. इससे पहले अरविंद केजरीवाल के घर आम आदमी पार्टी के नेता मनीष सिसोदिया, कुमार विश्वास, आशीष खेतान पहुंच गए. अरविंद केजरीवाल के साथ उनके 6 मंत्री भी शपथ लेंगे.

लोकसभा चुनाव लड़ना हमारा अहंकार था: केजरीवाल
दिल्ली के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेने के बाद रामलीला मैदान के मंच से केजरीवाल लोगों को संबोधित किया. उन्होंने कहा, ‘हमें अहंकार से बचना होगा. लोकसभा चुनाव लड़ना हमारा अहंकार था. आने वाले पांच साल मैं दिल्ली की सेवा करूंगा. मैं सभी पुलिस वालों और अधिकारियों को निर्देश देता हूं कि अगर कोई टोपी वाला बदमाशी करता है तो उसे तुरंत जेल में डाल देना. कानून में जितनी सजा तय है, उससे दोगुनी सजा उसे देना.’

ये है केजरीवाल की कैबिनेट:

अरविंद केजरीवाल: मुख्यमंत्री, वित्त, बिजली, गृह मंत्रालय
मनीष सिसोदिया: उप-मुख्यमंत्री, पीडब्ल्यूडी, शिक्षा मंत्री
गोपाल राय: परिवहन और श्रम मंत्रालय
सत्येंद्र जैन: स्वास्थ्य एवं उद्योग मंत्रालय
असीम अहमद खान: खाद्य और आपूर्ति मंत्रालय
संदीप कुमार: महिला एवं बाल विकास मंत्रालय, एससी-एसटी मंत्रालय
जीतेंद्र तोमर: कानून मंत्रालय