उत्तराखंड को मिले 421 नए डॉक्टर, जल्द ही पहाड़ की सेहत सुधारेंगे

देहरादून।… राज्य के सरकारी अस्पतालों में 421 नए डॉक्टरों की तैनाती जल्द ही होने की उम्मीद है. लोक सेवा आयोग ने कुल 747 पदों की मांग के बदले चयनित 421 डॉक्टरों की सूची शासन को भेज दी है.
इसके बाद नवनियुक्त डॉक्टरों की तैनाती प्रक्रिया भी जल्द शुरू होने की उम्मीद है. नई तबादला नीति में नवनियुक्त डॉक्टरों को दुर्गम व अति दुर्गम क्षेत्रों में तैनात किए जाने का प्रावधान है. ऐसे में दुर्गम क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाएं भी बेहतर होने की उम्मीद की जा सकती है.
राज्य में अब तक स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाली का मुख्य कारण भी डॉक्टरों की कमी ही रहा है. खासतौर पर दुर्गम क्षेत्रों के अस्पतालों पर इसका सबसे बुरा प्रभाव पड़ रहा है. सुदूर क्षेत्रों में डॉक्टर न होने के कारण कई अस्पतालों पर ताले भी लटके पड़े हैं. सरकार की ओर से लोक सेवा आयोग को 747 पदों पर डॉक्टरों की नियुक्ति का प्रस्ताव भेजा गया था.
आयोग ने इन पदों के लिए कुल 421 डॉक्टरों का चयन पूरा कर लिया है. इन डॉक्टरों की नियुक्ति की संस्तुति के साथ आयोग ने उनकी सूची भी शासन को भेज दी है.
चयनित डॉक्टरों की सूची मिलने के बाद अब सरकार ने उनकी विशेषज्ञता के आधार पर उन्हें श्रेणीबद्ध करना शुरू कर दिया है. इसके बाद चयनित डॉक्टरों की डिग्रियों के सत्यापन की प्रक्रिया शुरू होगी. हालांकि, इस बीच सत्यापन प्रक्रिया पूर्ण होने तक सरकार ने नवनियुक्त डॉक्टरों से शपथ पत्र लेकर उन्हें तैनाती देने का भी निर्णय किया है.
माना जा रहा है कि जल्द ही स्वास्थ्य महानिदेशालय की ओर से इन डाक्टरों की तैनाती का प्रस्ताव सरकार को भेजा जाएगा, ताकि इनकी तैनाती जल्द सुनिश्चित कर स्वास्थ्य सेवाओं को पटरी पर लाया जा सके.