बिंसर के जंगलों में लगी आग, धधकते जंगल से उठा काला धुंआ

पहाड़ के जंगलों के लिए गर्मियों के दिन किसी अभ‍िषाप से कम नहीं हैं. क्योंकि गर्मियों में यहां लगभग हर जंगल में आग लग जाती है. लेकिन इस बार तो अभी तक बर्फ ही गिर रही है और जंगलों में आग लगने का सिलसिला शुरू हो गया है. ताजा मामला बिंसर का है.

अल्मोड़ा जिले में जिला मुख्यालय के पास ही बिंसर के जंगलों में बुधवार शाम कंपार्ट नंबर 12 में अचानक आग लग गई. देर शाम तक जंगल आग से धधकता रहा और जंगल से काला धुआं उठता हुआ देखा गया. स्थानीय लोगों के अनुसार दुख की बात ये है कि वन विभाग के अध‍िकारियों ने इस आग को बुझाने या इस पर काबू पाने की कोई कोश‍िश नहीं की.

स्थानीय ग्रामीणों का कहना है, अभी तो फायर सीजन भी नहीं आया है और अभी से ही जंगलों में आग लगनी शुरू हो गई है. लेकिन वन विभाग दावाग्नि की घटनाओं को रोकने में नाकाम ही साबित हो रहा है.

गौरतलब है कि हर साल फायर सीजन में अराजक तत्वों द्वारा जंगलों में आग लगा देने की घटनाओं के कारण लाखों रुपये की वन संपदा और वन्य जीवों को नुकसान पहुंचता है. इसके बावजूद भी जंगलों में आग की इन घटनाओं पर रोक लगाने के लिए कोई कारगर पहल नहीं हो पा रही है

ये बात भी गौर करने लायक है कि जंगलों को आग से बचाने और आग लगने की हालत में जल्द से जल्द उस पर काबू पाने के लिए हर साल वन विभाग को अच्छा-खासा बजट मिलता है और खर्च भी होता है. लेकिन नतीजा सिफर ही निकलता है. अब तो फायर सीजन से पहले ही जंगलों में आग लगने की घटनाएं शुरू हो गई हैं.