आंदोलनकारियों की हुंकार, मेला स्थल से अतिक्रमण नहीं हटा तो नहीं लगने देंगे बिखौती मेला

अल्मोड़ा जिले के द्वाराहाट में ऐतिहासिक स्याल्दे मेला स्थल से अतिक्रमण हटाए जाने की मांग को लेकर आंदोलन 20वें दिन भी जारी है. आंदोलनकारियों ने 19वें दिन नगर पंचायत ऑफिस के मेन गेट में ताला लगाकर नारेबाजी की और धरना दिया. आंदोलन के कारण नगर पंचायत के कई कार्य बाधित हुए. धरना स्थल पर वक्ताओं ने कहा कि अगर जल्द से जल्द अतिक्रमण नहीं हटाया गया तो पाली-पछाऊं की जनता स्याल्दे व बिखौती मेलों के भी बहिष्कार का निर्णय लेने को बाध्य हो जाएगी.

मेला परिसर में हुए अतिक्रमण को हटाए जाने की मांग को लेकर अलग-अलग संगठनों का आंदोलन के 20वें दिन भी जारी है. इस दौरान 19वें दिन धरना स्थल पर आयोजित सभा में वक्ताओं ने कहा कि हाईकोर्ट की व्यवस्था को दरकिनार कर प्रशासन पांच महीने तक खामोश बैठा रहा.

अब क्षेत्रीय जनता द्वारा आंदोलन किए जाने के बाद अनुरोध याचिका दायर करने की बात कही जा रही है. कहा कि अतिक्रमण के खिलाफ जनता लगातार आंदोलन करती आ रही है, लेकिन प्रशासन हर बार आश्वासनों तक ही सीमित रहा. वक्ताओं ने कहा कि समय रहते प्रशासन जाग यगा होता तो मेला स्थल पर अतिक्रमण की बाढ़ नहीं आती.

आंदोलनकारियों ने चेतावनी देते हुए कहा कि जल्द ही मेला स्थल से अतिक्रमण नहीं हटाया गया तो क्षेत्र की जनता स्याल्दे व बिखौती मेलों के बहिष्कार करे के लिए बाध्य हो जाएगी. धरना