डिजिटल इंडिया से जुड़ेगा हर गांव, पंचायत राज कार्यालय ने शुरू किया काम

हरिद्वार।… जिले की सभी ग्राम पंचायतें अब डिजिटल इंडिया से जुड़ेंगी. पांच हजार से ज्यादा आबादी वाले गांवों में अतिरिक्त कर्मचारी भी तैनात किए जाएंगे. इसका फायदा यह होगा कि अध‍िकारी अब ग्राम स्तर पर होने वाले कामों पर आसानी से नजर रख पाएंगे. इससे आम जनता को भी फायदा होगा और वे भी ग्राम पंचायत में होने वाले कामों के बारे में आसानी से जानकारी ले पाएंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने डिजिटल इंडिया की पहल की है. अब इसे धरातल पर उतारने का काम जिला पंचायत राज कार्यालय ने शुरू कर दिया है. हरिद्वार जिले में कुल 312 ग्राम पंचायतें हैं. इन गांवों को डिजिटल इंडिया से जोड़ने के लिए फिलहाल बीएसएनएल की ओर से ऑप्टिकल फाइबर केबल बिछाने का काम चल रहा है. बाद में हर ग्राम पंचायत में कंप्यूटर देकर उसे डिजिटल इंडिया से जोड़ा जाएगा. इसके तहत एक पोर्टल भी बनाया जाएगा.

इसमें ग्राम पंचायतों में होने वाले कामों के बारे में लोग आसानी से जान पाएगा. योजनाओं के अमल पर अधिकारी नजर रखेंगे. योजना के तहत 5 हजार से ज्यादा आबादी वाले गांवों में अतिरिक्त कर्मचारी भी तैनात होंगे. एक अकाउंटेंट और एक कंप्यूटर विशेषज्ञ की तैनाती भी की जाएगी. इससे काम ज्यादातर ग्राम स्तर पर ही होंगे.

कई पंचायतों के पास भवन ही नहीं हैं
जिले में 312 ग्राम पंचायतों में से 41 ऐसे हैं जिनके पास अपना पंचायत भवन नहीं है. इसमें से 12 ग्राम पंचायतें नई बनी हैं. डिजिटल इंडिया से यह ग्राम पंचायत भी जुड़ पाएं, इसके लिए राज्य सरकार राजीव गांधी पंचायत सशक्तिकरण अभियान के तहत धन मुहैया कराएगी. हर ग्राम पंचायत में 12 लाख की लागत से नया पंचायत घर बनेगा.

5 हजार से ज्यादा आबादी वाले गांवों की संख्या

ब्लॉक का नाम गांवों की संख्या
रुड़की 22
नारसन 16
लक्सर 20
भगवानपुर 23
बहादराबाद 22
खानपुर 5