अर्धकुंभ मेले के लिए 123 करोड़ के 15 कार्यों को मंजूरी, तैयारियों में जुटे विभाग

हरिद्वार।… अगले साल मकर संक्रांति यानी उत्तरायणी के दिन से हरिद्वार में अर्धकुंभ शुरू हो जाएगा. इसके लिए तैयारियां जोरों पर हैं. मेले के लिए 123 करोड़ रुपये के 15 कार्यों को सरकार ने मंजूरी दे दी है और अब संबंध‍ित विभागों ने तैयारियां भी शुरू कर दी हैं. PWD अर्धकुंभ के लिए 10 अस्थायी और तीन स्थायी पुलों का निर्माण करा रहा है. विभाग ने इनके लिए टेंडर मंगवाऐ हैं. उम्मीद की जा रही है कि निर्माण कार्य मार्च में शुरू हो जाएगा.

मेले के लिए अब सिर्फ 10 महीने का ही वक्त बचा है, लेकिन सरकार की ओर से स्थायी व अस्थायी प्रकृति के सिर्फ 14 कार्यों की मंजूरी मिली है. इसमें भी 14 कार्य तो अकेले PWD के हैं और एक सिंचाई विभाग से जुड़ा है. हाल ही में अर्धकुंभ मेले की तैयारियों की विभागवार समीक्षा बैठक में शहरी विकास मंत्री ने भी स्वीकृत कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिए थे.

लोक निर्माण विभाग ने 14 में से 13 कार्यों के लिए टेंडर मंगवाए हैं. सभी टेंडर 10 अस्थायी और तीन स्थायी पुलों के निर्माण से जुड़े हैं. 10 अस्थायी कार्यों के लिए 11 फरवरी तक टेंडर आमंत्रित किए जा रहे हैं, जिन्हें 12 फरवरी को खोला जाएगा. जबकि तीन स्थायी कार्यों के लिए गुरुवार 5 फरवरी तक टेंडर मंगाए गए हैं. शुक्रवार 6 फरवरी को ये टेंडर खोले जाएंगे.

इन जगहों पर बनेंगे स्थायी पुल
1. ललतारौ पुल डाउन स्ट्रीम में गंगनहर पर 110 मीटर लंबा और सात मीटर चौड़ा डबल लेन पुल.
2. ज्वालापुर में गंगनहर पर रेलवे के लाल पुल के समानांतर 90 मीटर लंबा डेढ़ लेन का पुल.
3. चिंतामणि आश्रम के पास अलकनंदा होटल से घाट को जोड़ने के लिए पैदल पुल का निर्माण.