DBTL फॉर्म नहीं भरा है तो तुरंत भर लें, वरना LPG कनेक्शन कट जाएगा

अल्मोड़ा।… डीबीटीएल योजना को लागू हुए 2 महीने हो चुके हैं, लेकिन अब भी अल्मोड़ा शहर में शत-प्रतिशत रसोई गैस उपभोक्ताओं से डीबीटीएल फॉर्म नहीं भरवाए जा सके हैं. जो काम दो महीने में नहीं हो पाया उससे मुकाबला करने के लिए प्रशासन ने अब सख्त रुख अपना लिया है.

प्रशासन ने अब चेतावनी दी है कि अगर किसी उपभोक्ता ने 15 फरवरी तक फॉर्म नहीं भरे तो उनका गैस कनेक्शन रद्द कर दिया जाएगा. इसके साथ ही 3 फरवरी को डीबीटीएल फॉर्म भरवाने के लिए विशेष अभ‍ियान छेड़ने का भी निर्णय लिया गया है. इसके लिए शहर को 4 जोन में मांटा गया है.

कई कोश‍िशों के बावजूद भरपूर संख्या में रसोई गैस उपभोक्ता नई सब्सिडी योजना डीबीटीएल से जुड़ने के लिए फॉर्म नहीं भर सके. शहर में फॉर्म भरवाना एक चुनौती के रूप सामने आई है. ऊपर से शत-प्रतिशत फॉर्म भरवाने का दबाव है. इसी क्रम में डीएम विनोद कुमार सुमन ने शनिवार को संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक करके चुनौती का सामना करने का निर्णय लिया.

अब तय किया गया है कि जिले में 3 फरवरी से 15 फरवरी तक फॉर्म भरवाने को विशेष अभियान चलेगा. अभियान को पूर्ण सफल बनाने के निर्देश अधिकारियों को दिए गए हैं. यह भी तय हुआ कि ऐसे उपभोक्ता, जिन्होंने न तो चार महीने से गैस भराई है और न ही फॉर्म भरा है, उनके गैस कनेक्शन रद्द किए जाएंगे. डीएम विनोद कुमार सुमन ने कहा कि जिन उपभोक्ताओं ने अभी तक डीबीटीएल फॉर्म नहीं भरे गए हैं, वे 15 फरवरी तक हर हालत में भर लें.

फॉर्म भरवाने के लिए डीएम ने अल्मोड़ा शहर को उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए चार जोन में बांट दिया है. इस अवधि में अब चार जगहों बेस अस्पताल, होली डे होम, कचहरी परिसर तथा गैस गोदाम लक्ष्मेश्वर में फॉर्म भरे जाएंगे. डीएम ने यह भी कहा कि उपभोक्ताओं को फॉर्म जमा करने में कोई असुविधा हो, तो वे अपने करीबी सरकारी दफ्तर में भी फार्म जमा कर सकते हैं, बशर्ते फॉर्म पूरी औपचारिकता के साथ पूरी तरह से भरा हो.

दूरस्थ क्षेत्रों के उपभोक्ताओं अपने ब्लॉक या एसडीएम कार्यालय में फॉर्म जमा कर सकते हैं. फार्म के साथ बैंक पासबुक व गैस बुक, गैस कनेक्शन की फोटोकॉपी संलग्न हो. ग्रामीण क्षेत्रों के लिए खंड विकास कार्यालय व गैस वितरण स्थल पर फॉर्म उपलब्ध करा दिए जाएंगे. डीएम ने कहा जिन उपभोक्ताओं द्वारा 15 फरवरी तक यह फॉर्म नहीं भरे जाएंगे, उनके गैस कनेक्शन रद्द करने की कार्रवाई अमल में आएगी. इंडियन ऑयल के सहायक प्रबंधक सुरेश चौधरी ने डीबीटीएल फॉर्म भरने के बारे में विस्तृत जानकारी दी.