‘भगवान के पास जा रही हूं’, लिखकर गायब हो गई धुनगिर नवोदय विद्यालय की छात्रा

उत्तराकाशी।… जवाहर नवोदय विद्यालय धुनगिर में 12वीं की छात्रा शीतल असवाल के लापता होने से स्कूल में हड़कंप मच गया है. प्री-बोर्ड परीक्षा में टॉपर रही यह छात्रा गुरुवार सुबह से ही लापता है. स्कूल प्रशासन ने पुलिस और प्रशासन को इसकी सूचना दे दी है.

चिन्यालीसौड़ निवासी शैलेंद्र असवाल की बेटी शीतल जवाहर नवोदय विद्यालय धुनगिर में 12वीं कक्षा की छात्रा है. वह स्कूल के हॉस्टल में ही रहतीं थी और आखिरी बार गुरुवार सुबह साढ़े सात बजे उसे हॉस्टल में देखा गया है. लापता छात्रा अपने कमरे में एक चिट्ठी छोड़कर गई है, जिसमें उसने लिखा है कि मैं भगवान के पास जा रही हूं.

प्रिंसिपल आरके शर्मा ने बताया कि सुबह नाश्ते के समय शीतल हॉस्टल में कपड़े सुखा रही थी. इसके बाद से उसका कोई पता नहीं है, उन्होंने सुबह करीब 11:30 बजे एसडीएम पुरोला को इसकी सूचना देने के साथ ही नायब तहसीलदार के यहां गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करा दी. छात्रा के लापता होने से स्कूल में व्याप्त अव्यवस्थाओं पर भी सवाल उठ रहे हैं. स्कूल प्रशासन एवं राजस्व विभाग के कर्मचारी उसकी खोजबीन में जुटे हैं. पुलिस भी सभी मार्गों पर वाहनों में सघन चेकिंग अभियान चला रही है.

नवोदय विद्यालय धुनगिर पांच-छह सालों से विवादों में घिरा है. 2010 में यहां 12वीं के एक छात्र ने हॉस्टल में ही आत्महत्या कर ली थी. साल 2013 में 11वीं और 12वीं कक्षा के एक दर्जन छात्र पास के एक गांव में शराब के नशे में धुत्त मिले थे. स्कूल में घटिया खाने की शिकायतें भी आम हो गई हैं.

साल 2013 में ही दूषित दही खाने से करीब सौ छात्र बीमार पड़ गए थे. शिकायत करने वाले अभिभावकों के बच्चों को प्रताड़ित किया जाता है. कई सालों से स्कूल का रिजल्ट भी संतोषजनक नहीं है. बीते साल 12वीं कक्षा में करीब एक दर्जन छात्र फेल हुए थे.