BAMS के लिए 10 फरवरी से शुरू होगी आवेदन प्रक्रिया

बीएएमएस करने का मन बना रहे हैं, तों आवेदन करने के लिए तैयारी पूरी रखें. 10 फरवरी से इसके लिए आवेदन मंगाए जाएंगे. उत्तराखंड आयुर्वेद विश्वविद्यालय ने एग्जाम का पूरा कार्यक्रम तैयार कर लिया है और इसे अगले दो दिन में सार्वजनिक किए जाने की संभावना है. राज्य के सभी मुख्य डाकघरों में इसके लिए आवेदन फार्म मिलेंगे.

विश्वविद्यालय इस साल दो तरह की एंट्रेंस एग्जाम आयोजित करेगा. इनमें से पहली परीक्षा यूएपीएमटी के जरिए बीएएमएस और बीएचएमएस में एडमिशन किए जाएंगे. दूसरी प्रवेश परीक्षा यूएपीजीएमईई के माध्यम से एमडी और एमएस आयुर्वेद में एडमिशन किए जाएंगे. दोनों के आवेदन एक साथ 10 फरवरी से लिए जाएंगे.

आवेदन फार्म उत्तराखंड के अलावा लखनऊ, दिल्ली, पटना, भुवनेश्वर और अहमदाबाद के डाकघरों में भी उपलब्ध कराए जा रहे हैं, ताकि वहां के छात्र भी एग्जाम के लिए आवेदन कर सकें. परीक्षा 24 मई को आयोजित होगी और 24 घंटे के भीतर इसके उत्तर भी जारी कर दिए जाएंगे. इस पर अगर कोई आपत्ति आती है तो उसका निराकरण करने के बाद मई के अंत तक ही परीक्षा परिणाम जारी करने का प्रयास किया जाएगा.

कुलपति प्रो. सत्येंद्र प्रसाद मिश्रा के मुताबिक दोनों परीक्षाओं का आयोजन अखिल भारतीय स्तर पर किया जाएगा, क्योंकि यहां के कॉजों से बीएएमएस करने को लेकर दूसरे राज्यों के युवाओं में भी काफी क्रेज रहता है.

इस परीक्षा के जरिए बीएएमएस की जो सीटें भरी जाएंगी उनमें से 110 सीटें दो राजकीय कालेजों में हैं. इसके अलावा निजी कॉलेजों की 240 सीटों में से आधी यानी 120 इसी प्रवेश परीक्षा के जरिए भरी जाएंगी. पतंजलि ने अपनी सभी बीएएमएस की सीटें भरने के लिए विवि को अधिकृत कर दिया है. यहां बीते साल बीएएमएस की 50 सीटें थीं, इस साल दस सीटें और बढ़ने की संभावना है. इसके अलावा बीएचएमएस की कुल 120 सीटों में से आधी इसी प्रवेश परीक्षा के जरिए भरी जाएंगी.