उधमसिंह नगर के मेले और धार्मिक आयोजन

हालांकि उधमसिंह नगर तराई के इलाके में बसा जिला है, लेकिन यहां भी कुमाऊं के कई रीति रिवाज आज भी जिंदा हैं. यहां भी पहाड़ों की तरह संक्रांति आदि के मौके पर मेले लगते हैं. पूरा जिला ही आद्योगिक पट्टी के रूप में विकसित किया गया है. यहां के अलग-अलग प्रमुख शहरों में देश के अन्‍य शहरों की तरह साप्‍ताहिक मेलों का भी आयोजन होता है.

चैती मेला, काशीपुर
जिले के प्रमुख शहर और देश के प्रमुख औद्यौगिक क्षेत्रों में से एक काशीपुर का चैती मेला काफी मशहूर है. यहां के चैती देवी मंदिर के पास हर साल मार्च के महीने में बहुत बड़े स्‍तर पर चैती मेले का आयोजन होता है. नवरात्र के दौरान लाखों की संख्‍या में श्रद्धालु चैती देवी के दर्शन के लिए यहां आते हैं. मेले का आयोजन स्‍थल चैती मंदिर काशीपुर-बाजपुर सड़क पर काशीपुर बस स्‍टैंड से सिर्फ 2.5 किमी दूर है.

अतारिया मंदिर मेला
अतारिया मंदिर में भगवान अतारिया की पूजा की जाती है. हर साल काफी संख्या में श्रद्धालु इस मंदिर में आते हैं. नवरात्रों के दौरान यहां दस दिन तक मेले का आयोजन होता है. अतारिया मंदिर रूद्रपुर-हल्द्वानी रोड से करीब 2 किलोमीटर दूर है.