वृकोधर भीम ने किया दुर्योधन का वध

गुप्तकाशी

गुप्तकाशी क्षेत्र के भैंसारी गांव में आयोजित पांडव नृत्य के दौरान सोमवार को हाथी कौथिग का आयोजन किया गया. पांडव नृत्य देखने के लिए दूर-दराज क्षेत्रों से बड़ी संख्या में लोग पहुंचे हुए थे.

गुप्तकाशी के भैंसारी गांव में 17 दिन तक चलने वाले पांडव नृत्य में सोमवार को हाथी का कौथिग का आयोजन किया गया. इसमें अर्जुन अपने सारथी श्रीकृष्ण के साथ हाथी पर बैठकर युद्ध क्षेत्र पहुंचते हैं.

रणक्षेत्र में वे कौरव सेना के साथ युद्ध करते हैं. कौरव सेना समाप्त होने के बाद भीम और दुर्योधन में युद्ध होता है. युद्ध लंबे समय तक चलता है. बाद में भीम दुर्योधन की जंघा पर जोरदार प्रहार कर उसे मार देता है.

इस दौरान पांडव नृत्य देखने के लिए भैंसारी, गुप्तकाशी, नाला, नारायणकोटी, ऊखीमठ, देवशाल, जाखधार समेत कई क्षेत्रों से बड़ी संख्या में लोग पहुंचे हुए थे.