गैरसैंण को राजधानी बनाने को फिर गरजा ऐरी गुट

रुद्रप्रयाग
गैरसैंण को स्थाई राजधानी घोषित करने की मांग को लेकर उत्तराखंड क्रांति दल (ऐरी गुट) ने पांच दिवसीय धरना दिया. गुरुवार 6 नवंबर यूकेडी के कार्यकर्ता सीडीओ कार्यालय के सम्मुख एकत्रित हुए और गैरसैंण को राजधानी बनाने के लिए आवाज बुलंद की.

धरनास्थल पर आयोजित सभा में वक्ताओं ने कहा कि 9 नवंबर को गैरसैंण राजधानी घोषित की जाए. कहा कि उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारियों का सही चिन्हीकरण कर उन्हें सम्मानजनक सुविधाएं दी जाएं. रुद्रप्रयाग के आपदा प्रभावितों का पुन: चयन एवं नगर पालिका रुद्रप्रयाग के आपदा प्रभावितों को शामिल कर मुआवजा दिया जाए.

यूकेडी ने प्रदेश में भ्रष्टाचार एवं कमीशनखोरी पर शीघ्र अंकुश लगाने, स्थानीय युवकों को योग्यता के अनुसार रोजगार देने, जिले में निर्माण हेतु स्वीकृत लंबित पडे़ झूलापुलों का शीघ्र निर्माण करने की मांग भी दोहराई. इस बावत सीएम को ज्ञापन भी प्रेषित किया. धरना देने वालों में जिलाध्यक्ष देवेन्द्र चमोली, पूर्व अध्यक्ष किशोरी नंदन डोभाल, गंगाधर सेमवाल, अवतार सिंह राणा, सुभाष मोंगा, राजेन्द्र नौटियाल, जितार जगवाण, दीपक पुरोहित, कल्याण सिंह समेत कई कार्यकर्ता उपस्थित थे.